बांड यील्ड में इजाफे के कारण यहां एक ही दिन में 5.41 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान

|

Updated: 26 Feb 2021, 04:57 PM IST

  • बांड यील्ड और पीई रेश्यो अपने उच्चतम स्तर पर पहुंचे, बाजार में भारी गिरावट
  • सेंसेक्स 1900 से ज्यादा अंक तक टूटा, निफ्टी 50 में 485 अंकों तक फिसला

नई दिल्ली। अमरीकी बांड यील्ड के एक साल के उच्चतम स्तर पर पहुंचने के कारण दुनियाभर के शेयर बाजारों में कोहराम दिखाई दिया। बात अगर भारत की करें तो सेंसेक्स करीब 2000 अंकों तक टूट गया। जबकि निफ्टी में भी करीब 4 फीसदी की गिरावट देखने को मिली। बांड यील्ड में इजाफा सिर्फ अमरीका में ही नहीं बल्कि भारत में भी है। अगस्त 2020 के बाद एक बार फिर से उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। वहीं पीई रेश्यों में भी इजाफा देखने को मिल रहा है। 17 फरवरी को patrika.com ने अपनी विशेष खबर में बताया था कि मार्च और अप्रैल में शेयर बाजार गिरावट की ओर जा सकता है। जिसका बांड यील्ड, पीई रेश्यो और डिविडेंड यील्ड के उच्च स्तर पर होना है। बाजार में इस गिरावट के कारण बाजार निवेशकों को 5.41 लाख करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा हैै।

यह भी पढ़ेंः- गैस सिलेंडर, सब्जियों के बाद अब मसालों में लगी आग, जानिए कितना महंगा हुआ धनिया

शेयर बाजार में कोहराम
आज शेयर बाजार में बड़ी गिरावट देखने को मिली है। बांबे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 1939.32 अंकों की गिरावट के साथ 49099.99 अंकों पर आ गया है। जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक निफ्टी 50 568.20 अंकों की गिरावट के साथ 14529.15 अंकों पर बंद हुआ। बीएसई स्मॉल कैप 149.63, बीएसई मिड-कैप 355.15 अंक और विदेशी निवेशकों का इंडेक्स सीएनएक्स मिडकैप 378.30 अंकों की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है।

यह भी पढ़ेंः- महज एक मिनट में 3.5 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान, जानिए वजह

सेक्टोरल इंडेक्स में गिरावट
बैंकिंग सेक्टर में बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है। बैंक एक्सचेंज 1995.84 और बैंक निफ्टी 1745.40 अंकों की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है। बीएसई ऑटो 733.14, कैपिटल गुड्स 606.24, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 422.60, बीएसई एफएमसीजी 187.17, बीएसई हेल्थकेयर 326.09, बीएसई आईटी 564.85, बीएसई मेटल 376.95, तेल और गैस 600.89, बीएसई पीएसयू 236.10 और बीएसई टेक 299.44 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुए हैं।

यह भी पढ़ेंः- खाने के तेल ने बिगाड़ा रसोई का बजट, जानिए कितनी बढ़ गई महंगाई

इन कारणों से आई है गिरावट
शेयर बाजार के जानकार रजनीश खोसला के अनुसार बांड यील्ड, डिविडेंड यील्ड और पीई रेश्यो हिस्टोरिकल लेवल पर पहुंच गए हैं। मौजूदा समय में बांड यील्ड 6.23 लेवल पर है। जबकि पीई रेश्यो यानी पर अर्निंग रेश्यो +41.2 पर पहुंच गया है। वहीं डिविडेंड यील्ड 1.04 पर आ गई है। रजनीश खोसला के अनुसार जब भी यह तीनों उंचाई पर होते हैं तो बाजार में गिरावट देखने को मिलती है। रजनीश खोसला के अनुमान के अनुसार मार्च और अप्रैल में शेयर बाजार 10 फीसदी का करेक्शन देख सकता है।