हैकर्स ने बनाया यूएस की सबसे बड़ी ऑयल पाइपलाइन को निशाना, क्रूड ऑयल में तेजी, भारत पर पड़ेगा यह असर

|

Updated: 10 May 2021, 11:34 AM IST

कोलोनियल पाइपलाइन कंपनी के हैक होने के बाद क्रूड ऑयल की कीमत में एक फीसदी की तेजी देखने को मिल रही है। डब्ल्यूटीआई क्रूड ऑयल 69 डॉलर और ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम 73 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच सकते हैं।

नई दिल्ली। अमरीका में हैकर्स ने सबसे बड़ी ऑयल पाइपलाइन को निशाना बनाया है। जिसके बाद राष्ट्रपति ने इमरजेंसी लागू कर दी है। कोलोनियल पाइपलाइन कंपनी के हैक होने के बाद क्रूड ऑयल की कीमत में एक फीसदी की तेजी देखने को मिल रही है। जानकारों की मानें तो डब्ल्यूटीआई क्रूड ऑयल 69 डॉलर और ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम 73 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच सकते हैं। जिसका भारत पर भी पड़ सकता है।

विदेशी बाजारों में क्रूड ऑयल की कीमत में इजाफा होगा तो भारत में भी कच्चे तेल की कीमत में भी तेजी देखने को मिलेगी। जिसकी वजह से भारत में पेट्रोल और डीजल की कीमत में इजाफा होगा। भारत अपनी जरुरत का 85 फीसदी क्रूड ऑयल इंपोर्ट करता है। वैसे जानकारों का कहना है कि भारत में कई जगहों पर लॉकडाउन लगने के कारण डिमांड कम है। जिसकी वजह से इसका असर भारत में कम ही देखने को मिल सकता है।

यह भी पढ़ेंः- यह बैंक दे रहे हैं फिक्स्ड डिपोजिट पर कमाई का ज्यादा मौका, जानिए कितना मिल रहा ब्याज

अमरीकी ऑयल पाइप लाइन पर साइबर अटैक
जिस अमरीकी ऑयल पाइप लाइन को निशाना बनाया है वह रोजाना 25 लाख बैरल कच्चा तेल सप्लाई करती है। हैकर्स ने इस पाइलपालन की साइबर सिक्योरिटी पर शुक्रवार को हमला किया था, जिसे अभी तक रिकवर नहीं किया जा सका है। साइबर हमले का असर अटलांटा और टेनेसी पर सबसे ज्यादा पड़ेगा। कुछ समय बाद न्यूयॉर्क तक भी असर दिख सकता है। रविवार रात तक कंपनी की 4 मेन लाइनें ठप पड़ी थीं। हमले का पता चलने के बाद कंपनी ने अपनी कुछ लाइनें काट दी हैं।

कच्चे तेल की कीमत में तेजी
इस घटना के बाद से कच्चे तेल की कीमत में 1 फीसदी से ज्यादा का इजाफा देखने को मिल चुका है। अमरीकी क्रूड ऑयल डब्ल्यूटीआई मौजूदा समय में 65.24 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा हैै। जिसके 68 से 69 डॉलर प्रति बैरल तक जाने की उम्मीद की जा रही है। वहीं दूसरी ओर ब्रेंट क्रूड ऑयल 68.66 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा है। जबकि इसके 73 डॉलर प्रति बैरल जाने की उम्मीद की जा रही है। जानकारों की मानें तो यूरोप और अमरीका में क्रूड ऑयल की डिमांड ज्यादा है। अगर सप्लाई दोबारा से शुरू नहीं होती है तो कीमत में तेजी आना संभव है।

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today: रिकॉर्ड लेवल की ओर पेट्रोल और डीजल के दाम, आज इतनी चुकानी होगी कीमत

भारत में कच्चे तेल की कीमत में इजाफा
वहीं दूसरी ओर भारतीय वायदा बाजार में कच्चे तेल की कीमत में तेजी देखने को मिल रही है। एमसीएक्स पर कच्चे तेल की कीमत 34 रुपए प्रति बैरल के इजाफे के साथ 4797 रुपए प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा है। जबकि आज कच्चा तेल 4804 रुपए प्रति बैरल के साथ दिन के उच्च स्तर पर पहुंचा था। जबकि आज कच्चे तेल की शुरुआत 4784 रुपए प्रति बैरल के साथ शुरुआत की थी।

भारत पर कितना पड़ेगा असर
केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया कहते हैं कि भारत में इस घटना असर होगा तो सही, लेकिन काफी कम। इसका कारण है भारत के कई राज्यों में लॉकडाउन लगा हुआ है। जिसकी वजह से भारत में डिमांड काफी कम है। जिस कारण से कम प्रभाव देखने को मिल सकता है। वो कहते हैं कि आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमत में मामूली तेजी देखने को मिल सकती है।