फेस्टिव सीजन से पहले Diesel Demand में इजाफा, जानिए कितने हो गए Petrol के दाम

|

Updated: 18 Oct 2020, 08:13 AM IST

  • अक्टूबर के पहले 15 दिनों में Diesel Sales में देखने को मिली 9 फीसदी की तेजी
  • Petrol Diesel Price में लगातार कई दिनों से देखने को नहीं मिल रहा है बदलाव

नई दिल्ली। भले ही डीजल की कीमत में बीते दो हफ्तों से ज्यादा समय से कोई बदलाव देखने को नहीं मिल रहा है, लेकिन डिमांड में बड़ा जबरदस्त बदलाव देखने को मिला है। फेस्टिव सीजन से पहले अक्टूबर के पहले पखवाड़े में डीजल की डिमांड ( Diesel Demand ) में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है। इस दौरान डीजल की बिक्री ( Diesel Sales ) में कोई खास इजाफा देखने को नहीं मिला है। आपको बता दें कि जैसे देश में अनलॉक की प्रक्रिया को शुरू किया गया है, वैसे-वैसे देश में डीजल की खपत में इजाफा देखने को मिला है। वहीं फेस्टिव सीजन से पहले आम लोगों की सड़कों पर चहल-पहल देखने को ज्यादा मिल रही है।

डीजल की खपत में 9 फीसदी का इजाफा
त्योहारों के मौसम ने अपनी दस्तक दे दी है, ऐसे में लोगों की तैयारियां भी जोर-शोर पर हैं और इसका सीधा प्रभाव डीजल की खपत पर देखने को मिल रहा है। अक्टूबर के पहले 15 दिनों में डीजल की खपत में व्यापक रूप से नौ प्रतिशत तक का इजाफा हुआ है और ऐसा लॉकडाउन के बाद पहली बार होता दिख रहा है। लॉकडाउन के बाद देश में अनलॉक की प्रक्रिया क्रमबद्ध तरीके से शुरू हो रही है। ऐसे में खरीदारी करने के लिए लोग परिवहन के साधनों का जमकर इस्तेमाल कर रहे हैं, जिससे डीजल की खपत बढ़ रही है और प्रभाव कीमत पर पड़ रहा है।

यह भी पढ़ेंः- कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट लेकर आने वाले श्रद्घालु ही कर सकेंगे मां वैष्णो देवी के दर्शन, जारी हुईं गाइडलाइन

कुछ इस तरह के आंकड़े आए सामने
अक्टूबर के पहले ही पखवाड़े में 26.5 मिलियन टन के स्तर तक पहुंचने के साथ ही डीजल की बिक्री में नौ फीसदी तक का इजाफा हुआ है। सितंबर के महीने से इसमें करीब-करीब 25 फीसदी तक का इजाफा है और यह वृद्धि अपने आप में ही महत्वपूर्ण है। अप्रैल के महीने में जब देशभर में कोरोनावायरस महामारी के प्रकोप के चलते लॉकडाउन का ऐलान किया गया।

उस दौरान तेल बेचने वाली कंपनियों द्वारा ईंधन की ब्रिकी में करीब-करीब 60 फीसदी तक की गिरावट देखी गई। जून में अनलॉक की प्रक्रिया जैसे-जैसे शुरू हुई, वैसे-वैसे इनमें भी वृद्धि देखी गई। अक्टूबर के महीने में पहले के 15 दिनों के दौरान पेट्रोल की ब्रिकी में भी बढ़ोतरी देखी गई, लेकिन दस लाख टन की खपत से इसमें करीब 1.5 फीसदी तक की कमी देखी गई।

यह भी पढ़ेंः- पीएम मोदी के इस कदम से दीपावली पर चीन को हुआ 40 हजार करोड़ रुपए का नुकसान

2 अक्टूबर के बाद से डीजल की कीमत में बदलाव नहीं
आईओसीएल से मिली जानकारी के अनुसार देश के चारों महानगरों में डीजल कीमत में 2 अक्टूबर के बाद से कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है। 2 अक्टूबर को 6 से 7 पैसे प्रति लीटर की कटौती देखने को मिली थी। जिसके बाद देश की राजधानी दिल्ली और मुंबई में डीजल के दाम क्रमश: 70.46 रुपए और 76.86 रुपए प्रति लीटर हो गए थे। वहीं कोलकाता में डीजल के दाम 73.99 रुपए और चेन्नई में 75.95 रुपए प्रति लीटर हो गए थे।

पेट्रोल की कीमत में 26 दिन से कोई बदलाव नहीं
आईओसीएल से मिली जानकारी के अनुसार देश के चारों महानगरों में पेट्रोल की कीमत में 26 दिन से कोई बदलाव नहीं हुआ है। आखिरी बार पेट्रोल की कीमत में 22 सितंबर को गिरावट देखने को मिली थी। उस दिन देश की राजधानी दिल्ली, कोलकाता और मुंबई में पेट्रोल 8 पैसे प्रति लीटर सस्ता हुआ था। जिसके बाद तीनों महानगरों में पेट्रोल 81.06, 82.59 और 87.74 रुपए प्रति लीटर हो गए थे। वहीं चेन्नई में पेट्रोल की कीमत में 7 पैसे प्रति लीटर की गिरावट देखने को मिली थी। जहां दाम 84.14 रुपए प्रति लीटर हो गए थेे। आज भी आपको यही दाम चुकाने होंगे।