खुशखबरी: इस साल पूरा हो सकता है दिल्ली में अपने घर का सपना

|

Published: 27 Mar 2018, 02:45 PM IST

दिल्ली विकास प्राधिकरण जून 2018 में अब तक की सबसे बड़ी हाउसिंग स्कीम लॉन्च करेगा।

नई दिल्ली। यदि आप दिल्ली में अपना घर खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो थोड़ा इंतजार कर लें। जल्द ही दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) हाउसिंग स्कीम लेकर आ रहा है। डीडीए के अनुसार यह हाउसिंग स्कीम जून 2018 में लॉन्च होगी। इस स्कीम में करीब 21 हजार फ्लैट बिक्री के लिए शामिल किए जाएंगे। यह फ्लैट पिछली योजनाएं से बेहतर और बड़े होंगे। डीडीए ने दावा किया है कि फ्लैटों की संख्या के मामले में यह उसकी अब तक की सबसे बड़ी हाउसिंग स्कीम होगी। इस स्कीम में कुल 20,987 फ्लैट शामिल होंगे। इसमें 16,296 फ्लैट एलआईजी कैटेगरी के हैं। डीडीए का कहना है कि इनमें से ज्यादातर फ्लैट बनकर तैयार हैं।

2017 की स्कीम के फ्लैट नहीं होंगे शामिल
डीडीए की ओर से जून में लॉन्च होने वाली स्कीम में 2017 की हाउसिंग स्कीम के बाद सरेंडर किए गए फ्लैट्स को शामिल नहीं किया जाएगा। 2018 की हाउसिंग स्कीम में 3,624 जनता फ्लैट्स आर्थिक रूप से पिछड़े (ईडब्ल्यूएस) वर्ग के लोगों के लिए आरक्षित रहेंगे। इसके अलावा 488 एचआईजी और 579 एमआईजी फ्लैट्स को इस स्कीम में शामिल किया जाएगा। आपको बता दें कि 2017 की हाउसिंग स्कीम में डीडीए ने 12,617 फ्लैट आवंटित किए थे। लेकिन फ्लैट आवंटन के बाद करीब साढ़े छह हजार आवंटियों ने छोटा आकार और लोकेशन की शिकायतें करते हुए सरेंडर कर दिए थे।

यहां होंगे 2018 की स्कीम के फ्लैट
डीडीए के अनुसार हाउसिंग स्कीम 2018 में शामिल किए गए फ्लैट्स में सुविधाओं का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। इस स्कीम में जसोला विहार के 416 एचआईजी, 268 एमआईजी और 94 एलआईजी फ्लैट्स को शामिल किया गया है। इस स्कीम में सबसे ज्यादा फ्लैट्स नरेला और रोहिणी में स्थित हैं। इन दोनों जगहों पर करीब 16 हजार एलआईजी और 3624 जनता फ्लैट्स बन चुके हैं। इसके अलावा वसंत कुंज सेक्टर-बी, महरौली-महिपालपुर रोड पर बनाए गए फ्लैट्स भी शामिल हैं।

बदला जाएगा सरेंडर किए गए फ्लैट्स का आकार
डीडीए ने 2017 की स्कीम में सरेंडर किए गए करीब साढ़े 6 हजार फ्लैट्स का आकार बदलने का फैसला किया है। डीडीए से जुड़े सूत्रों के अनुसार यह फ्लैट वन बेडरूम कैटेगरी के थे। इनको आवंटियों ने छोटे आकार के कारण सरेंडर किया था। अब वन बेडरूम के दो फ्लैट्स को मिलाकर टू बेडरूम फ्लैट बनाने की योजना बनाई जा रही है। डीडीए के अनुसार 2018 की हाउसिंग स्कीम में सबसे कम आकार का फ्लैट 430 वर्ग फुट का होगा। डीडीए की अब तक स्कीम्स में शामिल किए गए सबसे छोटे फ्लैट 323 वर्ग फुट के होते थे।