जहरीली शराबकांड- किराना दुकान से 20-20 रुपए के मुनाफे में बेच रहे थे जहरीली शराब

|

Published: 27 Jul 2021, 08:58 AM IST

- तीन आरोपियों पर प्रकरण दर्ज, पीएम रूम के बाहर कांग्रेसियों का प्रदर्शन, आईजी-कमिश्नर पहुंचे खंखरई गांव

Mandsaur Liquor Scandal Liquor Scandal Mandsaur

मंदसौर. जिले के ग्राम खंखरई में जहरीली शराब पीने के बाद 3 लोगों की मौत के मामले में सोमवार को पुलिस ने 3 आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया। एक आरोपी को बीती रात गिरफ्तार कर लिया गया था तो दो की तलाश की जा रही है। वहीं, शराब पीने के बाद अस्पताल में दाखिल कराए गए दो लोगों भगतराम और पारस को वेटिंलेटर पर रखा गया है तो एक अन्य बृजेश गुर्जर को आईसीयू में भर्ती कराया गया। उज्जैन संभाग के कमिश्नर संदीप यादव और आईजी योगेश देशमुख ने अस्पताल पहुंचकर सभी से चर्चा की। मौत के कारणों की जांच के लिए मृतक घनश्याम और श्यामलाल के शवों का पैनल से दोबारा पीएम कराया गया।

Sawan Mass कोरोनाकाल में ऐसे कर सकेंगे महाकाल के दर्शन, सवारी के लिए मार्ग तय

फिलहाल चिकित्सकों ने मौत संबंधी कारणों का खुलासा नहीं किया है, लेकिन पिपलियामंडी पुलिस ने तीन आरोपियों महिपाल ङ्क्षसह उर्फ नेपाल ङ्क्षसह, पिंटू ङ्क्षसह पिता महिपाल ङ्क्षसह और गजेंद्र ङ्क्षसह पिता महिपाल ङ्क्षसह के खिलाफ धारा 304, 328, आबकारी अधिनियम 1915 49ए और 34 में प्रकरण दर्ज कर पिंटू सिंह को गिरफ्तार कर लिया है, दो अन्य आरोपियों की तलाश जारी है, जहरीली शराब बिक्री की धारा भी लगाई गई है। प्रशासन ने रात को ही अवैध शराब बिक्री स्थल ध्वस्त कर दिया था। सोमवार को दिनभर परिजनों व पीडि़तों से शराब लेने संबंधी पूछताछ होती रही।

भारी बारिश से कई जिलों में जन-जीवन अस्त-व्यस्त, कई डैम लबालब

गांव खंखराई में खुलेआम जहरीली शराब का बिक रही थी, आरोपी को प्रति क्वार्टर 20 रूपए का फायदा होता था। यह बात आरोपी पिंटू ने पुलिस पूछताछ के दौरान बताई, वे किराना दुकान से ही अवैध शराब बेच रहे थे। उधर, कांग्रेस ने परिजनों को साथ लेकर मृतकों को आर्थिक सहायता व अन्य मांगों को लेकर पीएम रूम के बाहर प्रदर्शन किया, शव नहीं लेने की बात कहते हुए धरने की चेतावनी दी तो प्रशासनिक अफसर मौके पर पहुंचे और पीडि़तों को मदद का भरोसा दिलाया। कांग्रेस का एक दल भी जांच करेगा।

MP में बारिश का कहर, कई जगहों पर बाढ़ के से हालात, अनेक लोग बहे

कमिश्नर संदीप यादव ने बताया कि तीन लोगों की मौत हुई है, कुछ लोग और भर्ती है। मामले की जांच की जा रही है। परिवार वालो व भर्ती मरीजों से मिले है, बयान देने की स्थिति में अभी बहुत सारे लोग नहीं है। जांच की कडिय़ा आगे बढऩे के साथ जानकारी मिलेंगी, प्रथमदृष्टया लापरवाही सामने आई है उन पर कार्रवाई की है। जहां शराब बिकने की जानकारी मिली उसे भी हटाया गया है। वहीं, आईजी योगेश देशमुख ने बताया कि जिला स्तर पर लापरवाही नहीं लग रही है। स्थानीय स्तर पर थाना होता है, वहां लापरवाही पर कार्रवाई हुई है, मामले की जांच की जा रही है, पीएम रिपोर्ट के बाद स्थिति ज्यादा स्पष्ट होगी।