पांच हजार की रिश्वत लेते हुए सीएमओ गिरफ्तार

|

Published: 17 Sep 2021, 01:43 PM IST

नगर परिषद मंदसौर के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को लोकायुक्त पुलिस उज्जैन ने किया ट्रैप।

मन्दसौर. नगर परिषद नगरी जिला मंदसौर के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। सीएमओ शोभाराम परमार किसान से बिल भुगतान के लिए रिश्वत मांग रहा था आज जब किसान ने 5 हजार रुपये सीएमओ को दिए तो लोकायुक्त उज्जैन की टीम ने नोट पकड़ते ही गिरफ्तार कर लिया।

दरअसल किसान के कुआं से जरूरत का पानी लेने के बाद उसका भुगतान होना था। किसान जब सीएमओ से मिला तो उसने बिल भुगतान के बदले रिश्वत मांगी थी। आवेदक कन्हैया लाल धाकड़ पिता पन्ना लाल धाकड़ निवासी ग्राम नगरी तहसील दलोदा जिला मंदसौर ने 15 सितम्बर 21 को लोकायुक्त संगठन उज्जैन में शिकायत की थी।

Must See: बुर्का पहनकर प्रेमिका से मिलने पहुंचा युवक छोटी सी गलती से पकड़ा गया

नगर परिषद नगरी जिला मंदसौर द्वारा गर्मी के दिनों में पानी की समस्या होने से विज्ञप्ति जारी कर टेंडर बुलाया गया था मेरे द्वारा टेंडर भरा गया जिस पर नगर परिषद नगरी जिला मंदसौर द्वारा दिनांक 3 2021 को कन्हैया लाल धाकड़ नाम से कार्य आदेश जारी कर मुझे प्रतिदिन मोटर चालू कर पानी सप्लाई करने का पत्र प्राप्त हुआ था उक्त मेरे द्वारा अपने कुवे से पानी सप्लाई करने के कार्य हेतु नगर परिषद नगर जिला मंदसौर द्वारा 15000 प्रति माह के हिसाब से 4 घंटे पानी ट्यूबेल से देने के लिए भुगतान करने का एग्रीमेंट कराया था मुझे परिषद द्वारा महा फरवरी से जून तक का पेमेंट 15000 प्रति माह के हिसाब से कर दिया था। केवल जुलाई के 15 दिनों का बकाया पेमेंट रुपए 7 हजार 5 सौ भुगतान करने के लिए उसको पेमेंट करने हेतु सीएमओ ने रिश्वत मांगी थी।

Must See: प्लेटफॉर्म टिकट का शुल्क घटाया अब स्टेशन पर नहीं देने पड़ेगे 50 रुपए

शुक्रवार को लोकायुक्त की टीम ने सीएमओ को उसके किराए के मकान ग्राम नगरी जिला मंदसौर मैं रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। लोकायुक्त टीम में निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव, आरक्षक शिवकुमार शर्मा आरक्षक विशाल रेशमिया, आरक्षक अनिल अटोलिया, आरक्षक श्याम सुंदर शर्मा शामिल थे।

Must See: ओबीसी आरक्षण: हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से मांगा जवाब