महिलाओं को बना रहे हुनरमंद

|

Updated: 03 Aug 2021, 09:11 PM IST

दिया जा रहा ब्यूटी पार्लर का प्रशिक्षण

अंजनियां. ग्रामीण क्षेत्र में प्रशिक्षण देकर युवतियों को हूनरमंद बनाया जा रहा है। ताकि वे स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकें। आदिवासी बहुल्य ग्रामीण क्षेत्र में वैसे भी रोजगार की कमी है। शिक्षित युवक युवतियां पलायन करने को मजबूर हो रहे हैं। ऐसे में छोटे छोटे रोजगार पलायन को रोकने मे करगर साबित हो सकते हैं। इसी उदï्देश्य से ग्राम पंचायत अंजनिया के स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान स्वयं सिद्ध द्वारा ब्यूटी पार्लर का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जिसमें 15 युवती तथा महिलाएं पंजीयन कराकर प्रशिक्षण प्रापत कर रही हैं। लेडी ब्यूटी पार्लर प्रबंधन कार्यक्रम के तहत जिले के विभिन्न क्षेत्रों से चयनित प्रशिक्षार्थियों को संस्थान के ट्रेनर विक्की श्रीवास, महिला सुरेखा सेन के द्वारा विशेष प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। संस्था स्वयं सिद्ध के निदेशक परीक्षित सोनी ने बताया कि ग्रामीण बेरोजगार युवती के साथ-साथ महिलाओं को चयनित कर स्वावलंबी बनाया जा रहा है। संस्था द्वारा निशुल्क प्रशिक्षण देकर ब्यूटी पार्लर की जानकारी दी जा रही है। कार्यक्रम 15 जुलाई से शुरू किया गया है यह प्रशिक्षण आगामी 15 सितंबर तक चलाया जाएगा। महिला ट्रेनर सुरेखा सेन का कहना है कि किसी भी क्षेत्र में हुनर कभी बेकार नहीं जाता। ब्यूटी पार्लर की भी शहरी के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में असीम संभावनाएं हैं। बस इसे तराशने की जरूरत है। सेन ने प्रशिक्षर्थियों का हौसला आफजाई करते हुए कहा कि आज पार्लर का प्रशिक्षण पाकर ग्रामीण क्षेत्रों की बेरोजगार युवती तथा महिलाएं स्वयं का रोजगार स्थातिप कर सकती हैं और स्वावलंबी बन सकती हैं। प्रशिक्षण में संस्था के निदेशक आशीष श्रीवास, कार्यक्रम सहायक सुरेखा सेन, विक्की कुमार की अहम उपस्थिति रही।