दलिया-चावल में मिली इल्लियां, मूंगफली से आ रही बदबू

|

Published: 25 Sep 2021, 11:22 AM IST

आंगनवाडी के बच्चों को दे रहे गुणवत्ताविहीन सूखा अनाज

मंडला। जिले में बने आंगनबाड़ी केन्द्रों पर भले ही बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए पौष्टिक आहार देने का दावा किया जा रहा होए लेकिन हकीकत कुछ और ही है। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चों की सेहत से खिलवाड़ करते हुए उन्हें गुणवत्ताविहीन अनाज दिया जा रहा है। संबंधित समूहों के द्वारा दिया जाने वाला पोषण आहार आंगनवाडी के माध्यम से दिया जाता है। जब इस आहार की जांच के लिए कोई अधिकारी पहुंचते है तो उन्हें यह गुणवत्ताविहीन अनाज नजर नहीं आता है।
कोरोना महामारी के चलते जिले के आंगनवाडी केन्द्र बंद हैं। शासन के निर्देशानुसार आंगनवाडी केन्द्रों में दर्ज बच्चों को उनके घर पर ही पोषण आहार दिया जाना है।
जानकारी अनुसार जिला मुख्यालय से करीब 40 किमी दूर विकासखंड घुघरी में आंगनवाडी केन्द्र के बच्चों के घर में पोषण आहार के नाम पर गुणवत्ताविहीन सूखा अनाज दिया जा रहा है। गुणवत्ताविहीन पोषण आहार वितरण की जानकारी संबंधित अधिकारी को दी गई। मौका मुआयना करने परियोजना अधिकारी मौके पर पहुंच गए। इनके साथ सुपरवाईजर, आंगनवाडी कार्यकर्ता, महिला समूह अध्यक्ष, ग्राम पंचायत घुघरी सरपंच पहुंचे। यहां दिए गए अनाज का निरीक्षण किया गया। जिसमें दिया गया सूखे अनाज में कीड़े, इल्लियां मिली। वहीं मूंगफली की कतरन से बदबू आ रही थी। मामले को देखते हुए संबंधित अधिकारी ने उचित कार्रवाई करने की बात कही।


इनका कहना

हमारे यहां आंगनवाड़ी में गुणवत्ताविहीन पोषण आहार दिया जा रहा है। जिसके खाने से बच्चों की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। संबंधित पर कार्रवाई की जाना चाहिए। जिससे बच्चों को गुणवत्तायुक्त आहार मिल सके।
पुनीत कुमार धुर्वे, ग्राम गजराज, घुघरी।
समस्त आंगनबाड़ी केंद्रों में समूह के द्वारा लापरवाही पूर्वक अनाज दिया जाता है। दिया जाने वाला अनाज गुणवत्तायुक्त नहीं मिलता है। इससे बीमारी होने की संभावना है।
जैन कुमार धुर्वे, ग्राम गजराज, घुघरी।
स्व सहायता समूह द्वारा यदि गुणवत्ताविहीन पोषण आहार बांटा गया होगा तो उसके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।
श्याम सिंह ठाकुर, परियोजना अधिकारी, घुघरी।
समूह की जांच कराई जाएगए यदि समूह द्वारा खराब पोषण आहार वितरण किया गया होगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
रामबाई सिन्धी, सुपरवाईजर, घुघरी।