नौकरी छोड़ शुरू की कंपनी, लॉन्च किया ऐप और बन गए अरबपति, जाने कहानी

|

Published: 11 Aug 2020, 01:00 PM IST

ऐसा बहुत कम होता है कि कोई एक ऐप अपने डवलपर को रातोंरात करोड़पति बना दें लेकिन चीन के झांग यिमिंग के साथ ऐसा ही हुआ।

चीन के झांग यिमिंग का स्टार्टअप भी आज एक बड़ी कंपनी के रूप में पहचान बना चुका है। अपनी कंपनी बाइटडांस की बदौलत उनका नाम चीन के सफल व्यवसायियों में शामिल है। झांग का जन्म अप्रेल 1983 में हुआ। उन्होंने नानकई यूनिवर्सिटी से 2005 में सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन की डिग्री ली। 2006 में झांग ने ट्रैवल वेबसाइट कुक्सुन को उसके पांचवें कर्मचारी और पहले इंजीनियर स्टाफ के तौर पर जॉइन किया और एक साल बाद तकनीकी निदेशक के तौर पर प्रमोट हुए।

2008 में झांग ने माइक्रोसॉफ्ट में काम करने के लिए इस वेबसाइट को छोड़ दिया लेकिन कंपनी के कॉरपोरेट रूल्स के कारण उनको परेशानी महसूस हुई। 2009 में जब कुक्सुन को एक्सपीडिया द्वारा अधिग्रहण किया जाने वाला था, झांग ने कुक्सुन के रियल एस्टेट सर्च बिजनेस को संभाला और अपनी पहली कंपनी 99फेंग डॉट कॉम शुरू की।

उन्होंने देखा कि चीन के स्मार्टफोन यूजर्स को मोबाइल पर अपने पसंद के मुद्दों की जानकारी हासिल करने में कठिनाई होती है। उन्होंने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड न्यूज एप बनाने का विचार किया तो इसके सफल होने पर इन्वेस्टर्स विश्वास नहीं कर रहे थे। उन्होंने अपनी कंपनी शुरू की और अगस्त 2012 में न्यूज एप टॉटियाओ शुरू किया, जो लोगों के बीच इन्फॉर्मेशन व न्यूज शेयर करता है।

सितंबर 2016 में उन्होंने चीन के मार्केट में वीडियो शेयरिंग एप डूयिन लॉन्च किया। जिसके जरिए लोग छोटे-छोटे वीडियो बनाकर एडिट कर सकते हैं। एक साल बाद वह टिकटॉक एप लेकर आए। शॉर्ट लिप-सिंक, कॉमेडी व टैलेंट वीडियो के चलते इस एप की कामयाबी ने धूम मचा दी। झांग की कंपनी के इस मुकाम तक पहुंचने के पीछे बेहतर अधिग्रहण व योजनाओं का विस्तार अहम रहा।

Related Stories