अगर आप भी आजमाएंगे ये टिप्स तो फटाफट होंगे मालामाल

|

Published: 22 Sep 2020, 01:00 PM IST

इन टिप्स को आजमा कर आप अपने कर्मचारियों से मनचाहा काम करवा सकते हैं-

किसी भी टीम लीडर के लिए अपने किसी एंप्लॉई को कंपनी से बाहर निकालना काफी मुश्किल काम होता है। लेकिन कई बार आपके सामने ऐसी परिस्थितियां पैदा हो जाती हैं, जब आपको अपने एंप्लॉई को कंपनी से बाहर करना पड़ता है। आपको इसके बाद की स्थितियों पर काबू रखना जरूरी होता है। जानते हैं कि किस तरह से इस स्थिति को मैनेज किया जा सकता है-

टीम को जानकारी दें
टीम से किसी एक एंप्लॉई को बाहर निकालने का असर पूरी टीम पर पड़ेगा। यहां तक कि टीम के सदस्यों को अपनी जॉब सिक्योरिटी की चिंता भी सता सकती है। ऐसे में आपको अपनी टीम से बातचीत कर उन्हें अच्छा मैसेज देने की कोशिश करनी चाहिए, ताकि वे बिना उलझन के कंपनी में अपना काम करते रहें। आपको अपनी टीम से कोई भी बात नहीं छुपानी चाहिए।

धैर्य से सुनें बातें
जब किसी एंप्लॉई की जॉब चली जाएगी तो वह परेशान होगा। गुस्से में वह आपसे गलत व्यवहार भी कर सकता है, पर खुद पर काबू रखना चाहिए। साथ ही उसकी बातों को धैर्य के साथ सुनना चाहिए और जब वह अपनी बात पूरी कर ले, तो उसे समझाने की कोशिश करनी चाहिए।

टीम को करें मोटिवेट
किसी एंप्लॉई को टीम से निकालने के बाद आपको अपनी टीम को दोबारा प्रोत्साहित करने की जरूरत पड़ती है। इसके लिए टीम से समय-समय पर मिलते रहने चाहिए और उनकी समस्या जानने की कोशिश करनी चाहिए। आप हर एंप्लॉई से उनके काम के बारे में भी बातचीत कर सकते हैं। आप उन्हें काम करने के नए तरीके भी बता सकते हैं।

मेहनत का दें पुरस्कार
कंपनी का हर एंप्लॉई सोचता है कि उसे अपने अच्छे काम के लिए बॉस की ओर से तारीफ मिले। इसलिए बतौर टीम लीडर आपको अपने हर एंप्लॉई को उसकी मेहनत का पुरस्कार देना चाहिए। इस तरह आप एंप्लॉई को कंपनी से जोड़े रखते हैं और वह काम में भी अपनी क्रिएटिविटी को दिखा पाता है।

तनाव को रखें दूर
अगर आप चाहते हैं कि किसी अन्य एंप्लॉई को निकालने की नौबत न आए, तो इसके लिए उनके सुझावों को प्रमुखता देनी चाहिए। सुझावों से एंप्लॉई अपने मन की बात कह देते हैं। एंप्लॉइज को बताएं कि कंपनी के विकास में उनकी भूमिका है। इससे एंप्लॉइज अच्छा महसूस करेंगे और उनके मन का डर निकल जाएगा।