हमारे पास 12400 करोड़ रुपए, चुका सकते हैं किंगफिशर का कर्ज: यूनाईटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स

|

Published: 09 Mar 2018, 06:11 PM IST

यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स ने कर्नाटक हाइकोर्ट को से कहा कि वो किंगफिशर एयरलाइंस पर बकाया 6000 करोड़ रुपए का भुगतान आसानी से कर सकती है।

हमारे पास 12400 करोड़ रुपए, चुका सकते हैं किंगफिशर का कर्ज: यूनाईटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स

नई दिल्ली। गुरुवार को विज्य माल्या की होल्डिंग कंपनी यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स ने कर्नाटक हाइकोर्ट को से कहा कि वो किंगफिशर एयरलाइंस पर बकाया 6000 करोड़ रुपए का भुगतान आसानी से कर सकती है। कंपनी ने कोर्ट को बताया कि उसकी एसेट और मार्केट वैल्यू लगभग 12,400 करोड़ से ज्यादा का है और वो किंगफिशर एयरलाइंस पर बकाए 6000 करोड़ रुपए का है। यूनाइटेड ब्रेवरीज होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड किंगफिशर की कॉरपोरेट गारंटर है। कंपनी ने कोर्ट को और भी कई अहम बातें बताईं।


अगली सुनवाई 2 अप्रैल को

कंपनी ने कहा कि, इडी द्वारा उसकी संपत्तियों को अटैच करने के बाद उसके पास एडिशनल डिपॉजिट नहीं और न ही उसके पास किसी प्रोपोजल के आदेश को पालन करने में सक्षम थी। इस मामले की सुनवाई जस्टिस दिनेश माहेश्वरी की अध्यक्षता वाली बेंच कर रही है। कोर्ट ने इस मामले की अगली सुनवाई 2 अप्रैल तक स्थगित कर दी है। कोर्ट में कंपनी के वकील ने बताया कि, जनवरी तक कंपनी के कुल एसेट्स की वैल्यू 13,400 करोड़ रुपए तक आंकी गई है। लेकिन मौजूदा समय में बाजार की उतार चढ़ाव को देखते हुए अब इसकी वैल्यू 12,400 करोड़ रुपए के लगभग है। कंपनी ने कोर्ट को ये भी बताया कि उसके के्रडिटर्स के आउडस्टैंडिंग ड्यूज 10,000 करोड़ रुपए से उपर नहीं होगा।


कोर्ट ने कमाए ब्याज से 137 करोड़ रुपए

एक मीडिया हाउस को कंपनी के वकील ने बताया कि ईडी ने कंपनी की सारी संपत्ति अटैच कर लिया है। उन्होने बताया कि, कर्नाटक हाइकोर्ट के पास जमा 1,240 करोड़ रुपए पर कोर्ट ने 137 करोड़ रुपए कमाएं है। जिसके बाद कुल राशि 1,417 करोड़ रुपए हो गया है। कोर्ट ने इसपर जवाब दिया कि, शेयरों की कीमतों पर भरोसा नहीं किया जा सकता। इसी को ध्यान में रखते हुए शेयरों के भरोसे नहीं रहा जा सकता। कोर्ट ने कंपनी को फटकार लगाते हुए कहा कि, आगे कंपनी को किसी ठोस प्रस्ताव के साथ आना होगा।

Related Stories