ब्रिटिश हार्इकोर्ट ने बढ़ार्इ विजय माल्या की मुश्किलें, 13 बैंकों की मांग पर लंदन स्थित संपत्ति जब्त करने के दिए आदेश

|

Published: 06 Jul 2018, 10:59 AM IST

लंदन कोर्ट ने भारत के 13 बैंकों के कंसाॅर्टियम की याचिका पर विजय माल्या के लंदन स्थित संपत्तियों की तलाशी लेने आैर उन्हें जब्त करने की अनुमति दे दी है।

ब्रिटिश हार्इकोर्ट ने बढ़ार्इ विजय माल्या की मुश्किलें, 13 बैंकों की मांग पर लंदन स्थित संपत्ति जब्त करने के दिए आदेश

मुंबर्इ। देश के कर्इ बड़े बैंकों काे करीब 9 हजार करोड़ रुपये से अधिक का चूना लगाने वाला भगौड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या को लंदन कोर्ट से एक आैर बड़ा झटका लगा है। लंदन कोर्ट ने भारत के 13 बैंकों के कंसाॅर्टियम की याचिका पर विजय माल्या के लंदन स्थित संपत्तियों की तलाशी लेने आैर उन्हें जब्त करने की अनुमति दे दी है। आपकाे बतो दें बैंकाें के इस कंसाॅर्टियम ने माल्या की संपत्ति जब्त करने के लिए कोर्ट में अर्जी दी थी जिसके बाद कोर्ट ने सुनवार्इ के दौरान ये बात मान ली।


लंदन के निकट हर्टफोर्डशायर स्थित संपत्ति की होगी तलाशी

कोर्ट के इस अादेश के बाद यूनाइटेड किंगडम के प्रवर्तन अधिकारी माल्या की संपत्तियों की तलाशी ले सकेंगे। माल्या की संपत्ति लंदन के निकट हर्टफोर्डशायर में स्थित है। ब्रिटिश कोर्ट ने यूके प्रवर्तन अधिकारियों आैर उनके एजेंट्स को इस तलाशी की अनुमति दे दी है। ज्ञात हो कि विजय माल्या पर 9 हजार करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज, धोखाधड़ी आैर मनी लाॅन्ड्रिंग का आरेप है। माल्या के प्रत्यर्पण के लिए भी भारतीया जांच एजेंसियां प्रयास कर रही हैं।


जांच के दौरान जरूरत पड़ने पर बल का प्रयोग करें एजेंट्स

गौरतलब है कि माल्या फिलहाल हर्टफोर्डशायर में ही रह रहा है। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि यदि एजेंट्स को तलाशी के लिए बल प्रयोग करना है तो इसके लिए उनको इसकी अनुमति है। हालांकि ये प्रवेश का निर्देश नहीं है। इसका मतलब ये है कि बैंकों के लिए यह एक साधन है आैर इसका इस्तेमाल वो बकाए की रकम की वसूली के लिए कर सकते हैं। कोर्ट के अादेश में साफ-साफ कहा गया है कि प्रवर्तन अधिकारी या उसके तहत कोर्इ प्रवर्तन एजेंट जरूरत पड़ने पर संपत्ति में प्रवेश के लिए पर्याप्त बल का इस्तेमाल कर सकते हैं।


हाल ही में माल्या ने लिखा था खत

अभी कुछ दिन पहले विजय माल्या ने एक खत में कहा था कि वो भारत में बैंकों को कर्ज नहीं चुकाने वाले लोगों की वो पहचान बन गया है। माल्या ने कहा था की उसान नाम आते ही लोगों का गुस्सा भड़क जाता है। आपको बता दें कि काफी समय बाद माल्या ने अपनी चुप्पी तोड़ी थी। माल्या ने अपने खत में लिखा था कि वह दुर्भाग्य से जिस विवाद में घिरे हुए हैं उसकी तथ्यात्मक स्थिति सामने रखना चाहता है।

Related Stories