माल्या को सजा से होने से बचाने में लगी ये महिला

|

Updated: 03 Aug 2018, 08:56 AM IST

विजय माल्या की लाइफ में महिलाएं हमेशा खास रही हैं। जगमगाहट से भरी लाइफस्‍टाइल, नाइटलाइफ जीने वाले माल्‍या की लाइफ में तमाम लड़क‍ियां रहीं हैं।

माल्या के भारत आने में सबसे बड़ी रुकावट बनी ये महिला

नई दिल्ली। विजय माल्या की लाइफ में महिलाएं हमेशा खास रही हैं। चका-चौंद से भरी लाइफस्‍टाइल, नाइटलाइफ जीने वाले माल्‍या की लाइफ में तमाम लड़क‍ियां रहीं हैं। जहां माल्या ने दो शादीयां की, पर दोनों ही ना कामयाब रही। तो वहीं फिर से माल्या का दिल उन्हीं की एयर होस्टेस पिंकी लालवानी पर आ गया। करोड़ो का लोन लेकर भारत से भागते समय माल्या अपनी गर्लफ्रेंड को साथ में ले जाना नहीं भूले। अब करोड़ का लोन लेकर भाग चुके माल्या को वापस लाने के लिए भारत सरकार पीछे पड़ी हुई है। लंदन की अदालत में माल्या पर केस भी चल रहा हैं। लेकिन ऐसे में माल्या की जिंदगी में एक और महिला हैं। जिनके बारे में ये कहा जाता है की अब माल्या की किस्मत अब इस महिला के हाथों में हैं। अब यहीं है जो माल्या को भारत सरकार से बचा सकती हैं। ये कोई और नहीं बल्कि माल्या की वकील बैरिस्टर क्लेयर मॉन्टगोमरी हैं। जो की माल्या की तरफ से केस लड़ रही हैं।


माल्या का केस लड़ रही है मॉन्टगोमरी

हाल ही में जब माल्या के केस पर जो सुनवाई हुई थी। जब मॉन्टगोमरी ने माल्या का पक्ष रखते हुए कहा था की भारत सरकार के पास ऐसा कोई भी प्रमाण नहीं है जिससे ये साबित हो सके की माल्या ने सरकार के साथ धोखाधड़ी की हैं। माल्या के बिजनेस में नुकसान हुआ वो इस बात को स्वीकार करते हैं। बिजनेस में नुकसान होने के कारण ही माल्या ने लोन लिया था। जिसे चुकाने की इच्छा कई बार वो जाता चुके हैं। मॉन्टगोमरी माल्या को बचाने की हर मुमकिन कोशिश में लगी हुई हैं। कोर्ट अगली सुनवाई तक के लिए टाल दी गई हैं। अगली सुनवाई 12 सितंबर को होनी हैं।

 

दूसरी चार्जशीट फाइल करने को तैयार सीबीआई

ईडी ने 2017 में माल्या के खिलाफ लंदन में पहली चार्जशीट फाइल की थी जो 9,000 करोड़ रुपये के IDBI-किंगफिशर बैंक लोन फ्रॉड केस से जुड़ी थी। अब सीबीआई माल्या के खिलाफ एक और चार्जशीट फाइल करने की तैयारी कर रही है। अगस्त 2016 में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) की शिकायत पर जांच एजेंसी ने माल्या के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की थी। यह चार्जशीट उसी सिलसिले में फाइल की जाएगी। एसबीआई ने माल्या पर 1,600 करोड़ रुपये के लोन री-पेमेंट में गड़बड़ी का आरोप लगाया था।

 

मॉन्टगोमरी ने आरोपो का किया खंडन

माल्या की वकील मॉन्टगोमरी पहले ही कोर्ट में माल्या पर लगे इन सारे आरोपो का आरोपों का खंडन कर चूकी हैं। मॉन्टगोमरी मजबूती के साथ कोर्ट में माल्या पा पक्ष रख चुकी हैं और माल्या को बेल भी दिला चुकी हैं। ऐसे में माल्या को वापस लाना भारत सरकार के लिए आसान नहीं होने वाला हैं। बैरिस्टर क्लेयर मॉन्टगोमरी को प्रत्यर्पण और इंटरनेशन क्रिमिनल लॉ का तगड़ा अनुभव है।

 

Related Stories