सनराइजर्स हैदराबाद की जर्सी पर दिखाई दिया रालको, कंपनी बनी टीम की मेन स्पांसर

|

Updated: 02 Oct 2020, 08:45 PM IST

  • 40 साल के इतिहास में रालको टायर्स किसी भी खेल टीम का बना है हिस्सा
  • सनराइजर्स हैदराबाद के सभी खिलाडिय़ों की जर्सी पर लिखा होगा रालको

नई दिल्ली। रालको टायर्स ने घोषणा करते हुए कहा कि यूएई में शुरू हुए इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें अंक में कंपनी सनराइजर्स हैदराबाद टीम का मेन स्पांसर बन गया है। कंपनी के अनुसार यह पहला मौका होगा कि जब 40 वर्ष में पहली बार टायर उत्पादक एक खेल प्रायोजक के रूप में मैदान में उतरेगा। इंडियन प्रीमियर लीग के 13वेें अंक में सनराइजर्स हैदराबाद के सभी खिलाड़ी और सहयोगी कर्मचारी खास और बैहतरीन जर्सी पहनेगें, जिसकी पीठ पर मेन स्पांसर रालको ब्रैंड का लोगो रहेगा ।

यह भी पढ़ेंः- अमरीकी राष्ट्रपति को हुआ कोरोना, अमरीकी और यूरोपीय बाजार में भारी गिरावट

रालको टायर्स अलग अलग प्रकार के वाहनों के लिए टायरों का उत्पादन करता है, जिसमें मोपेड, स्कूटर, मोटरसाईकिल, तिपहिया वाहन और एलटी/यूएलटी के टायर शामिल हैं। इसके अलावा रालको कई नई श्रेणी के उत्पाद, जैसे पर्यावरण अनुकूल टायर ईको-रेसर, पेश कर दो-पहिया टायर कारोबार में भी उत्पादन बढाने के लिए बढ़चढ़ कर प्रयास कर रहा है।

कंपनी ने एक लिखित बयान में कहा कि रालको वह सनराइजर्स हैदराबाद का मेन स्पांसर बन गया है। इंडियन प्रीमियर लीग 2020 का आयोजन बहुत ही असाधारण परिस्थितयों में किया जा रहा है। इस प्रचंड समय में क्रिकेट का खेल पूरे देश को फिर एक साथ ले आएगा। जनता में अपने उत्कृष्ट उत्पादों की जानकारी बढ़ाने के लिए रालको इस मंच को एक प्रचार उपकरण के रूप में उपयोग कर रहा है। रालको 70 देशों में निर्यात किया जाता है। समय समय पर नवीन और उत्तम श्रेणी के उत्पाद पेश कर देश और विदेशी टायर बाजारों में अपनी पकड़ मजबूत करता जा रहा है।

यह भी पढ़ेंः- बीते पांच दिनों में बाजार के आए अच्छे दिन, निवेशकों को 8.15 लाख करोड़ रुपए का फायदा

हाल ही में रालको ने लुधियाना, पंजाब में स्थित अपने दो ऑटोमोटीव कारखानों की उत्पादन क्षमता 28 लाख 10 हजार टायर यूनिटस से बढ़ाकर 50 लाख कर दी है। लुधियाना में स्थित रालको के दो विशाल आटोमोटिव कारखानों और एक विशाल साईकिल टायर कारखाने में 4,000 प्रशिक्षित और अर्ध-कुशल श्रमिकों को रोजगार दिया जाता है । रालको टायर्स विश्व में दूसरे नंबर का सबसे बड़ा साईकिल टायर उत्पादनकर्ता भी है।