जांच एजेंसियों के सामने नतमस्तक हुए भगौड़े नीरव मोदी आैर मेहुल चौकसी

|

Published: 31 Jul 2018, 09:07 PM IST

नीरव मोदी आैर मेहुल चौकसी के वकीलों की मानें तो दिल्ली हाईकोर्ट में ईडी के खिलाफ डाली गर्इ अपनी सभी याचिकाआें को वापस ले लिया है।

नर्इ दिल्ली। आखिरकार देश की जांच एजेंसियों के सामने देश से भगौड़ा घोषित हो चुके नीरव मोदी आैर महुल चौकसी को हार माननी ही पड़ी। दोनों ने दिल्ली हाईकोर्ट में ईडी के खिलाफ डाली गर्इ अपनी सभी याचिकाआें को वापस ले लिया है। नीरव मोदी आैर मेहुल चौकसी के वकीलों की मानें तो उन्होंने याचिकाएं इसलिए वापस ली हैं क्योंकि अब वो दोनों संबंधित जांच एजेंसियों से जुड़े मामले में अपना पक्ष सामने रखेंगे। आपको बता दें कि दोनों पर पीएनबी में 14 हजार करोड़ रुपए का फ्राॅड करने का आरोप है।

दोनों ने डाली थी याचिकाएं
पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी की कंपनी फायर स्टार डायमंड और मेहुल चोकसी की कंपनी गीतांजलि जैम्स ने दिल्ली हाईकोर्ट में मार्च के महीने में अपनी याचिकाआें को लगाया था। जिसमें कहा गया था कि र्इडी ने उनकी संपत्तियों को गैरकानूनी तरीके से जब्त किया है। कोर्ट ने दोनों की याचिकाओं पर सुनवाई कर ईडी को नोटिस भी जारी किया था।

इस बात की भी दी थी चुनौती
वहीं दूसरी आेर नीरव मोदी ने ईडी के अलावा अपनी संपत्तियों को पंजाब नेशनल बैंक के साथ जब्त करने के आदेश को भी दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। नीरव और मेहुल ने न सिर्फ ईडी की सर्च और प्रॉपर्टी सीज करने की कार्रवाई को चुनौती दी थी। बल्कि इसको लेकर गाइडलाइन बनाने की मांग भी दिल्ली हाइकोर्ट से की गई थी। मेहुल चोकसी और नीरव मोदी के खिलाफ ईडी और सीबीआई जैसी जांच एजेंसियां मामला दर्ज करके जांच कर रही हैं। पीएनबी के करीब 14 हजार करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का मामला इन लोगों दर्ज है।

इन खबरों को भी पढ़ें
सावधानः ट्वीटर आपके अकाउंट को करने जा रहा है ब्लाॅक, ना करें एेसा काम

देश के दो राज्यों की जीडीपी से भी ज्यादा है मोदी सरकार के विज्ञापन पर खर्च

सोने की कीमतों में हुर्इ 100 रुपए की कटौती, चांदी के दाम रहे स्थिर

अमरीका के आगे पाकिस्तान की घटी विश्वसनीयता, आर्इएमएफ को किया आगाह

केंद्र सरकार समेत फ्लिपकार्ट आैर अमेजन को लगा जोरदार झटका, दिल्ली हार्इकोर्ट में होगा जवाब

जिस शहर से शुरू हुआ सपना, वहीं आकर उबर ने बनाया अनोखा रिकाॅर्ड

बेनामी संपत्ति मामले में अबतक 4300 करोड़ जब्त, सरकार ने दी जानकारी

अमरीका के इस एलीट क्लब में शामिल हुआ भारत, आसान हो जाएगा व्यापार

Related Stories