मोदी सरकार को दिया माल्या ने चकमा, अब जेल के डर से दिखा रहा ये नखरे

|

Published: 02 Aug 2018, 01:24 PM IST

भगौड़े कारोबारी विजय माल्या ने लंदन की कोर्ट में भारत की जेलों की खराब हालत का हवाला देते हुए भारत नहीं भेजे जाने की मांग की है।

नई दिल्ली। देश के सरकारी बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा लेकर फरार भगौड़ा कारोबारी विजय माल्या ने मोदी सरकार को एक बार फिर चकमा दे दिया है। बार-बार भारत आकर बैंकों का रुपए लौटाने की बात कहने वाला अब नखरे दिखाने लगा है। माल्या ने लंदन की कोर्ट में भारत की जेलों में सुविधाएं और सुरक्षा नहीं होने का बहाना बनाते हुए भारत प्रत्यर्पण नहीं करने की मांग की है, जबकि सरकार ने विजय माल्या को देश की सबसे सुरक्षित और सुविधाएंयुक्त मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में रखने की बात कही है। भारत सरकार ने अनुरोध पर लंदन की अदालत ने ऑर्थर रोड जेल की वीडियो भी पेश करने को कहा था। आपको बता दें कि सुनवाई के दौरान खुद विजय माल्या भी ऑर्थर रोड जेल में रखने की मांग कर चुका है।

देश की सबसे सुरक्षित जेल है ऑर्थर रोड जेल

विजय माल्या मुंबई की जिस ऑर्थर रोड जेल में रहने से मना कर रहा है, वह देश की सबसे सुरक्षित जेल मानी जाती है। यही कारण है कि तमाम बड़े देसी-विदेशी अपराधियों को ऑर्थर रोड जेल में रखा जाता है। इनमें सबसे अधिक संख्या आतंकियों की होती है। इसके अलावा फिल्म स्टार, राजनेता, व्यापारियों की वजह से ऑर्थर रोड जेल सुर्खियों में बनी रहती है। हाल ही में अभिनेता संजय दत्त भी अपनी सजा पूरी करके ऑर्थर रोड जेल से बाहर आए हैं। इनके अलावा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, देश पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू, पाकिस्तानी आतंकी अजमल कसाब को भी ऑर्थर रोड जेल में रखा जा चुका है।

ये है ऑर्थर रोड जेल की खासियत

ऑर्थर रोड जेल मुंबई की सबसे बड़ी और पुरानी जेल है। इसकी स्थापना 1926 में की गई थी। 1994 में इसको अपग्रेड किया गया। तभी इसका आधिकारिक नाम मुंबई सेंट्रल जेल रखा गया। हालांकि यह ऑर्थर रोड जेल के नाम से ही मशहूर है। यह जेल 2 एकड़ जमीन पर फैली हुई है। यह जेल मुंबई के वीआईपी इलाके में स्थित है। इसमें 800 कैदियों के रहने की व्यवस्था है लेकिन वर्तमान में यहां करीब 2000 कैदी रह रहे हैं। इनमें सजायाफ्ता और विचाराधीन दोनों प्रकार के कैदी शामिल हैं। जानकारी के अनुसार इस जेल में कई बैरकें हैं। इसमें सबसे खास बैरक नंबर 12 है। इस बैरक की खासियत यह है कि इसमें केवल 1 ही कैदी को रखा जाता है। माल्या को इसी बैरक में रखे जाने की बात कही जा रही है। विजय माल्या ने इस बैरक में हवा, पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं पर्याप्त नहीं हैं।

Related Stories