पीएनबी घोटाला: लाल बहादुर शास्त्री की पत्नी से सीखें नीरव मोदी, पेंशन से चुकाया था 5 हजार का लोन

|

Published: 21 Feb 2018, 03:46 PM IST

नीरव मोदी को लाल बहादुर शास्त्री के परिवार से कुछ सीख लेनी चाहिए।

नई दिल्ली। एक हैं नीरव मोदी जो पंजाब नेशनल बैंक को 11,300 करोड़ रुपए का चूना लगा चुके हैं। लेकिन वहीं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पत्नी इसकी मिशाल हैं। आपको बता दें कि इस विधवा पत्नी ने अपना पेंशन बेचकर बैंक का 5000 रुपए का लोन चुकाया। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला।

लाल बहादुर शास्त्री ने लिया था 5000 रुपए का लोन
दरअसल देश के दूसरे भूतपूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने भी पीएनबी से 5,000 रुपये का एक कार लोन लिया था, जिसे उनकी मृत्यु के बाद उनकी विधवा पत्नी ललिता ने अपनी पेंशन से चुकाया था। भूतपूर्व प्रधानमंत्री ने साल 1964 में एक नई फिएट खरीदी थी। जिसकी कीमत उस समय 12000 रुपए थी। लेकिन उनके पास बैंक में सिर्फ 7,000 रुपये थे। प्रधानमंत्री ने 5,000 रुपये के लोन के लिए आवेदन दिया जिसे उसी दिन अप्रूव कर दिया गया। इस तरह लाल बहादुर शास्त्री ने पीएनबी से 5000 रुपए का लोन लिया।

देहांत के बाद परिवार ने चुकाया लोन
1964 में लोन लेने के दो साल के बाद ही पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का देहांत हो गया। लेकिन उनकी पत्नी ने इस दुख की घड़ी में भी बैंक का लोन चुकाना जरुरी समझा औऱ पति की मृत्यु के बाद मिलने वाली उनकी पेंशन से उस कार का लोन चुकाया।

लोन माफी की पेशकश को मना कर दिया
तात्कालिक प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने सरकार की तरफ से लोन माफ करने की बात कही, लेकिन लाल बहादुर शास्त्री की पत्नी ने मना कर दिया था और शास्त्रीजी के निधन के बाद 4 साल तक अपनी पेंशन से लोन चुकाया था। ऐसे में नीरव मोदी को इनसे कुछ सीख लेनी चाहिए जो बैकिंग इतिहास के सबसे बड़े घोटाले के सूत्रधार हैं। आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री की वो कार अब राजधानी दिल्ली में 1 मोतीलाल नेहरू मार्ग, लाल बहादुर शास्त्री मेमोरियल में प्रदर्शनी में रखी है।