इस मामले में भारत चीन-अमरीका को दे रहा है कड़ी टक्कर

|

Updated: 18 Sep 2018, 08:36 AM IST

अर्थव्यवस्था के मामले में पछाड़ने के बाद भारत ने फ्रांस को कारोबारी घरानों के मामले में भी पछाड़ दिया है।

नई दिल्ली। भारत पूरी दुनिया में रोज नए-नए रिकॉर्ड बना रहा है। कुछ महीने पहले ही भारत ने अर्थव्यवस्था के मामले में फ्रांस को पछाड़ा है। अब भारत दुनिया की सबसे बड़ी छठी अर्थव्यस्था बन गया है। इससे भारतीय कंपनियों को भी लाभ मिल रहा है। हाल ही में आई एक रिपोर्ट के अनुसार, कारोबारी घराने या बिजनेस हाउसेज के मामले में भारत दुनिया में तीसरे नंबर पर आ गया है। स्विस इन्वेस्टमेंट बैंक क्रेडिट सुइस की 'फैमिली 1000' रिपोर्ट के अनुसार, कारोबारी घराने के मामले में चीन और अमरीका के बाद तीसरे स्थान पर आ गया है। भारत में जहां 111 कारोबारी घराने हैं, वहीं पहले नंबर पर काबिज चीन में 159 कारोबारी घराने और दूसरे नंबर पर अमरीका में 121 कारोबारी घराने हैं।

परिवार बिजनेस में एशिया का इनका दबदबा

पूरी दुनिया के कारोबारी घरानों पर आधारित इस रिपोर्ट में एशिया के देशों का दबदबा बना हुआ है। खासकर एशिया में चीन, भारत और हॉन्गकॉन्ग का दबदबा बना हुआ है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि रिपोर्ट में शामिल टॉप 50 कंपनियों में से 24 अकेले एशिया से हैं। इसमें भी 12 कंपनियां भारत की शामिल हैं। रिपोर्ट के अनुसार, परिवार की ओर से नियंत्रण किए जाने वाली कंपनियां हर क्षेत्र और सेक्टर में बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं।

60 लाख करोड़ है भारतीय कंपनियों का मार्केट कैप

रिपोर्ट के अनुसार, भारत के 111 बिजनेस हाउसेज का मार्केट कैप में भी दबदबा है। इन सभी कंपनियों का कुल मार्केट कैप करीब 60 लाख करोड़ रुपए हैं। इस रिपोर्ट में टॉप-50 कंपनियों में शामिल भारत की 12 कंपनियों का मार्केट कैप करीब 14 लाख करोड़ रुपए हैं। रिपोर्ट के अनुसार, भारत के कारोबारी घरानों की ओर से संचालित कंपनियां 2016 से हर साल करीब 13.9 फीसदी का औसतन रिटर्न दे रही हैं। इसके उलट बिना परिवार वाली कंपनियों ने अपने निवेशकों को मात्र 6 फीसदी का रिटर्न दिया है।

कारोबारी घरानों के लिहाज से टॉप 5 देश

देश कंपनियां चीन 159 अमरीका 121 भारत 111 हॉन्गकॉन्ग 72 फ्रांस 45
Related Stories