सैलरी के मामले में ये शख्स मुकेश अंबानी से भी हैं आगे, एक साल की सैलरी है 75 करोड़ रुपए

|

Updated: 05 Jul 2018, 09:12 AM IST

हीरो मोटोकॉर्प के सीएमडी पवन मुंजाल को वित्त वर्ष 2018 में 75.44 करोड़ रुपये का पैकेज मिला है। पिछले साल उन्हें 26 फीसदी का इंक्रीमेंट मिला।

सैलरी के मामले में ये शख्स मुकेश अंबानी से भी हैं आगे, एक साल की सैलरी है 75 करोड़ रुपए

नर्इ दिल्ली। भले ही मुकेश अंबानी जैसे बड़े टेलिकॉम सेक्टर के सीर्इआे ने अपनी सैलरी में कोई बढ़ोतरी न की हो लेकिन ऐसे कई सीर्इआे है जिनकी सैलरी में हर साल इजाफा होता है । कुछ दिनों पहले आई रिपोर्ट के अनुसार सीर्इआे की सैलरी में सालाना 31 फीसदी से ज्यादा की इजाफा होता हैं। अगर अब बात आंकड़ों की जाए तो तो यह इजाफा 13.51 करोड़ रुपए से भी ज्यादा है। आज हम आपको एेसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी सैलरी मौजूदा समय में मुकेश अंबानी से भी ज्यादा है। आखिर कौन है वो शख्स आइए आपको भी बताते हैं।

ये भी पढ़ेः- 137 अरब रुपए रुपए टैक्स की विवाद में फंसी हैं देश की प्रमुख कंपनियां

हीरो मोटोकाॅर्प के सीएमडी का सैलरी पैकेज सबसे ज्यादा
हीरो मोटोकॉर्प के सीएमडी पवन मुंजाल को वित्त वर्ष 2018 में 75.44 करोड़ रुपये का पैकेज मिला है। पिछले साल उन्हें 26 फीसदी का इंक्रीमेंट मिला। यह देश के सबसे अमीर शख्स और आरआईएल के सीएमडी मुकेश अंबानी की सैलरी (डिविडेंड को छोड़कर) से भी ज्यादा है। उनकी सैलरी पिछले वित्त वर्ष में 15 करोड़ रुपए रही। यह लगातार दूसरा साल है, जब मुंजाल देश की ऑटो इंडस्ट्री में सबसे अधिक वेतन पाने वाले सीएक्सओ रहे हैं। वित्त वर्ष 2018 में उनकी कंपनी का मुनाफा 9.4 फीसदी बढ़कर 3,697 करोड़ रुपए रहा था। फ्रॉस्ट ऐंड सलिवन में ट्रांसपोर्टेशन के हेड कौशिक माधवन ने बताया कि कुछ सीएक्सओ और सीईओ की सैलरी इसलिए अधिक दिख रही है क्योंकि इसमें परफॉर्मेंस बेस्ड पेमेंट भी शामिल है।

इन लोगों की भी बड़ी सैलरी
वित्त वर्ष 2017 की एनुअल रिपोर्ट्स के मुताबिक, मारुति सुजुकी, महिंद्रा और आयशर मोटर्स के सीईओ की सैलरी 4.2 करोड़ से 7.5 करोड़ रुपए के बीच थी। वहीं, टाटा मोटर्स के एमडी गुंटर बुश्चेक पवन मुंजाल के बाद इस सेक्टर में सबसे अधिक सैलरी पाने वाले दूसरे सीईओ हैं। उनका वेतन 22.55 करोड़ रुपए है। पर्सेंटेज में बढ़ोतरी के लिहाज से विप्रो के रिशद प्रेमजी नंबर वन रहे। उनकी सैलरी में 250 पर्सेंट की बढ़ोतरी हुई।

Related Stories