चेयरमैन के बाद Tesla का CEO Post भी गंवा सकते हैं Elon Musk

|

Updated: 03 May 2020, 03:38 PM IST

  • एक Tweet की वजह से Tesla को हो गया था एक लाख करोड़ रुपए का नुकसान
  • 2018 में विवादित ट्वीट की वजह कंपनी बोर्ड ने Elon Musk को चेयरमैन पद से हटाया था

नई दिल्ली। एलन मस्क ( Elon Musk ) अपने मौजूदा विवादित ट्वीट से हुए नुकसान की वजह से टेस्ला ( Tesla Motors ) के कार मेकर्स बोर्ड के सीईओ के रूप में अपने पद को गंवा सकते हैं। साथ ही यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन ( U.S. Securities and Exchange Commission ) भी उनके द्वारा किए गए ट्वीट को लेकर उनकी जवाबदेही तय कर सकता है। उनके ट्वीट के कारण कुछ ही घंटों में टेस्ला की मार्केट वैल्यू ( Tesla market Value ) में 14 अरब अमरीकी डॉलर यानी एक लाख करोड़ रुपए की गिरावट आई है। आपको बता दें एलन मस्क ने ट्वीट कर कहा कि इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी के शेयर की कीमत बहुत अधिक है, जिसके प्रतिक्रियास्वरूप मार्केट में कंपनी के शेयर्स में भारी गिरावट दर्ज हुई। और मास्क को खुद तीन अरब डॉलर का नुकसान हो गया।

यह भी पढ़ेंः- Lockdown खत्म होने के बाद भी खाली रह सकते हैं Shopping Malls

2018 में भी किया था ट्वीट
इसके पहले अगस्त 2018 में उन्होंने एक ट्वीट में टेस्ला के बारे में कहा था कि टेस्ला जल्दी ही निजी कंपनी बनने जा रही है और इसके प्रति शेयर की कीमत 420 अमेरिकी डॉलर होगी। इस ट्वीट के कारण उन्हें चेयरमैन की कुर्सी से हाथ धोना पड़ा। अगस्त 2018 के ट्वीट के परिणामस्वरूप मस्क और टेस्ला में एसईसी के साथ फ्रॉड के आरोपों को लेकर एक समझौता हुआ। इस समझौते में चार करोड़ डॉलर का जुर्माना, कंपनी और मस्क के बीच बराबर का विभाजन, टेस्ला बोर्ड से मस्क को चेयरमैन पद से हटाया जाना शामिल रहा।

यह भी पढ़ेंः- Mahila Jan Dhan Account Holders को सोमवार से मिलनी शुरू हो जाएगी राहत की दूसरी किस्त

क्या कहते हैं अधिकारी
एसईसी के एनफोर्समेंट डिवीजन के को-डायरेक्टर स्टीवन पेइकिन ने एक बयान में कहा कि स्टेटमेंट के परिणामस्वरूप एलन मस्क अब टेस्ला के चेयरमैन नहीं होंगे, टेस्ला का बोर्ड महत्वपूर्ण सुधारों को अपनाएगा। मस्क ने एक बार फिर शुक्रवार को अपने ट्वीट के जरिए विवाद बढ़ाने का कार्य किया है। उन्होंने ट्वीट में कहा कि टेस्ला के स्टॉक प्राइस बहुत अधिक है। इस ट्वीट से पहले टेस्ला की मार्केट वैल्यू 141 अरब अमरीकी डॉलर थी, जबकि इसके कुछ घंटों बाद ही यह गिर कर 121 अरब अमरीकी डॉलर हो गई।