PNB SCAM: मेहुल चोकसी के यहां ईडी का छापा, 1.27 करोड़ रुपए के जेवरात जब्त

|

Published: 18 Feb 2018, 03:59 PM IST

देश के सबसे बड़े बैंक घोटाला के आरोपी नीरव मोदी के पार्टनर और रिश्ते में मोदी के मामा मेहुल चोकसी के रायपुर स्थित शो-रूम में ईडी ने छापा मारा।

नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक घोटाला के आरोपी नीरव मोदी के पार्टनर और रिश्ते में मोदी के मामा मेहुल चोकसी के रायपुर स्थित शो-रूम में शनिवार देर रात ईडी ने छापा मारा। ईडी की 12 सदस्यीय टीम ने पूरी रात यहां तलाशी ली और करीब एक करोड़ 27 लाख रुपये के जेवरात जब्त किए। ईडी की इस कार्रवाई की जानकारी शहर के किसी भी अधिकारी को नहीं थी।

1.27 करोड़ के जेवरात जब्त
सूत्रों के अनुसार, ईडी ने शनिवार रात अंबुजा मॉल स्थित शॉपर्स स्टॉप स्थित गीतांजलि ज्वैलर्स में छापा मारकर लगभग 1.27 करोड़ रुपये के जेवरात जब्त किए। ईडी की 12 सदस्यीय टीम रात 10.30 बजे दुकान में पहुंची। यह शोरूम मेहुल चोकसी का है। इसका संचालन कुंदल दत्ता करता है। सूत्रों ने बताया कि यहां से 25 करोड़ रुपये के हीरे के जेवरात और अन्य कीमती नग जब्त किए गए हैं। ईडी ने स्पष्ट किया कि जब्त सामान की कीमत शोरूम स्टोर की स्टॉक वैल्यू से तय की गई है। कंपनी इसी कीमत पर खरीद दिखाती है। जब्त सामानों का स्वतंत्र मूल्यांकन भी कराया जा रहा है।

सरकारी बैंकों का निजीकरण हो
उद्योग मंडल एसोचैम ने हीरा व्यापारी नीरव मोदी से जुड़े पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के 11,600 करोड़ रुपये के घोटाले का हवाला देते हुए रविवार को कहा कि सरकार को सरकारी बैंकों में अपनी अधिकतम हिस्सेदारी बेच देनी चाहिए ताकि ये बैंक निजी तौर पर काम कर सकें। पीएनबी ने इस सप्ताह खुलासा किया था कि बैंक की मुंबई की एक शाखा में 1,77.169 करोड़ डॉलर की धोखाधड़ी हुई है। यह राशि बैंक की शुद्ध आय लगभग 1,320 करोड़ रुपये के आठ गुना के बराबर है।

सरकार के लिए खतरे की घंटी
एसोचैम ने जारी बयान में कहा, "पीएनबी का 11,600 करोड़ रुपये का घोटाला सरकार के लिए एक खतरे की घंटी है कि वह बैंकों में अपनी हिस्सेदारी घटाकर 50 फीसदी से कम कर दे ताकि ये बैंक निजी बैंकों की तरह काम कर सकें। इस स्थिति में अपने हितधारकों और ग्राहकों के हितों की रक्षा की पूर्ण जिम्मेदारी बैंकों की होगी।"