रूसी कोरोना वैक्सीन के ट्रायल मंजूरी मिलते ही डॉ. रेड्डीज पर साइबर हमला, दुनिया के सभी कारखानों में काम बंद

|

Updated: 22 Oct 2020, 04:22 PM IST

  • बुधवार देर रात 2 बजकर 30 मिनट पर हुआ साइबर हमला, अपने सभी डेटा सेंटर्स को किया आइसोलेट
  • कुछ दिनों पहले ही डॉ. रेड्डीज को रूस की कोरोना वैक्सीन 'स्पूतनिक वी' के ट्रायल की मिली थी मंजूरी

नई दिल्ली। देश की बड़ी दवा कंपनियों में से एक डॉ. रेड्डीज ने साइबर हमले ( Cyber Attack On Dr. Reddy ) के बाद दुनिया भर में फैले अपने कई कारखानों में काम को रोक दिया है और अपने डाटा सेंटर की सेवाए आइसोलेट कर दी हैं।कंपनी ने जानकारी देते हुए कहा किह उसने ऐहतियातन यह काम किया है। अगले 24 घंटे के अंदर काम शुरू कर दिया जाएगा। इससे पहले साइबर हमले की सूचना मिलने के बाद शेयर बाजार में कंपनी के शेयर 4 फीसदी तक गिर गए। आपको बता दें कि पिछले महीने डॉ. रेड्डीज और आरडीआईएफ ने स्पुतनिक वी वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल और भारत में इसके सप्लाई को पार्टनरिशप की थी। जिसमें आरडीआईएफ भारत को भी जोड़ा गया है। वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक की सप्लाई का काम सौंपा गया है।

यह भी पढ़ेंः- Gold Price Today : तीन दिन की तेजी के बाद सोने के दाम में बड़ी गिरावट, जानिए कितना हुआ सस्ता

24 घंटे में शुरू हो जाएगा काम
कंपनी के मुख्य सूचना अधिकारी मुकेश राठी ने बताया कि अगले 24 घंटे में सभी सेवाए दोबारा शुरू हो सकती हैं और साइबर हमले का कोई बड़ा प्रभाव कंपनी के काम पर नहीं पड़ेगा। सूत्रों के मुताबिक कंपनी के भारत के अलावा अमरीका, रुस, ब्रिटेन और ब्राजील स्थित संयंत्रों में काम रोका गया है। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही डॉ. रेड्डीज को रूस की कोरोना वैक्सीन 'स्पूतनिक वी' का भारत में मानव परीक्षण करने की मंजूरी मिली थी।

यह भी पढ़ेंः- आम लोगों की नौकरियों पर कोरोना से भी ज्यादा बड़ा खतरा, 9 करोड़ जनता होगी बेरोजगार

कंपनी के शेयर 4 फीसदी तक गिरे
जब साइबर हमले की बात सामने आई तो कंपनी के शेयरों में 4 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली थी, जिसकी वजह से कंपनी के शेयर 4832.40 रुपए पर पहुंच गए थे। जिसके बाद कंपनी के शेयरों में रिकवरी भी देखने को मिली और बाजार बंद होने के तक कंपनी के शेयर 5023.60 रुपए पर बंद हुए। वैसे आज कंपनी का शेयर 5046.90 रुपए पर खुले थे।

यह भी पढ़ेंः- ATM Cash Transaction के नियमों पर 8 साल बाद हो सकता है बड़ा बदलाव, आरबीआई ने सकती है बड़ा झटका