जेफ बेजोस के बयान पर नारायण मूर्ति की बेबाक टिप्पणी, कहा-इस बात की जिम्मेदारी हमारे कंधों पर

|

Updated: 16 Jan 2020, 07:59 AM IST

  • असंगठित क्षेत्र से आता है देश का करीब 85 फीसदी व्यापार
  • एसएमबी से 10 और कंपनियों से 5 फीसदी से आता है व्यापार

नई दिल्ली। अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस की टिप्पणी '21वीं सदी भारत की होगीÓ की सराहना करते हुए सॉफ्टवेयर प्रमुख इंफोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति ने बुधवार को कहा कि इस पूर्वानुमान को सच बनाने की जिम्मेदारी हमारे कंधों पर है। मूर्ति ने अमेजन संभव कार्यक्रम में कहा कि देश का व्यापार करीब 85 फीसदी असंगठित क्षेत्र से आता है, एसएमबी से लगभग 10 फीसदी और बड़ी कंपनियों से शायद 5 फीसदी आता है। उन्होंने श्रोताओं से कहा, "इसलिए आप 21वीं सदी को भारत की सदी बनाने में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।"

यह भी पढ़ेंः- सीएए के विरोध के बीच जेफ बेजोस का बड़ा बयान, भारत की होगी 21वीं सदी

आर्थिक रूप शक्तिशाली बनना जरूरी
मूर्ति ने जोर देकर कहा, "देश की शताब्दी बनाने का एकमात्र तरीका यह है कि देश आर्थिक रूप से शक्तिशाली बन जाए और देश को आर्थिक रूप से शक्तिशाली बनाने का एकमात्र तरीका है कि अगर प्रति व्यक्ति राजस्व उत्पादकता मौजूदा 2000 डॉलर या 1,40,000 रुपये से तीन से चार गुना हो जाए या आदर्श तौर पर पांच गुना हो जाए।"

यह भी पढ़ेंः- Petrol Diesel Price Today : 15 पैसे सस्ता हुआ पेट्रोल और डीजल के दाम में 14 पैसे प्रत लीटर की गिरावट

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था की जिम्मेदारी हमारी
मूर्ति ने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था की बात कही है। यह कार्य आप द्वारा किया जाएगा। इसमें सबसे महत्वपूर्ण कार्य जो आपको करना है कि एक ऐसे विचार का सृजन करना होगा, जो आपके व्यावसायिक प्रस्ताव को आपके प्रतियोगी की तुलना में बेहतर साबित करे।"