Reliance Retail में आबूधाबी की Mubadala कर सकती है करीब 7400 करोड़ रुपए निवेश

|

Updated: 30 Sep 2020, 09:11 AM IST

  • सिल्वर लेक और केकेआर बाद अब मुबादला के साथ चल रही है रिलायंस इंडस्ट्रीज की बातचीत
  • मुबादला ने रिलायंस जियो में भी किया है बड़ा निवेश, 9093 करोड़ रुपए में खरीदी है 1.85 फीसदी की हिस्सेदारी

नई दिल्ली। रिलायंस रिटेल में सिल्वर लेक और केकेआर के बाद एक और निवेशक का नाम जल्द जुड़ सकता है। यह और कोई नहीं आबूधाबी की सबसे बड़ी इंवेस्टमेंट कंपनियों में से मुबादला है। मुबादला रिलायंस जियो यानी जियो प्लेटफॉम्र्स का छठा सबसे बड़ा निवेशक भी है। रिटेल को लेकर दोनों के बीच 1 बिलीयन डॉलर यानी करीब 7400 करोड़ रुपए की डील की बातचीत चल रही है। इससे पहले बीते कुछ हफ्तों में रिलायंस रिटेल की ओर से केकेआर और सिल्वर लेकर 1.8 बिलीयन डॉलर जुटा चुकी है।

यह भी पढ़ेंः- उड़ानों की संख्या कम करने के विवाद के बीच लुफ्थांसा ने जर्मनी और भारत के बीच सभी उड़ानें की रद्द

दोनों के कंपनियों के बीच हुई है बातचीत
एशिया के सबसे अमीर आदमी मुकेश अंबानी के नियंत्रण वाले रिलायंस ने अपने रिटले बिजनेस में दांव लगाने के लिए निवेशकों से संपर्क किया है, जिन्होंने इस साल जियो प्लेटफॉम्र्स के डिजिटल कारोबार में 20 बिलियन डॉलर से अधिक की राशि जमा की है। रिलायंस रिटेल के लगभग 12,000 स्टोर हैं, जहां पर किराने का सामान और इलेक्ट्रॉनिक्स गुड्स से लेकर फैशन और जूते संबंधित सभी सामान बेचा जाता है। मुबादला ने जियो प्लेटफॉम्र्स में लगभग 1.2 बिलियन डॉलर का निवेश किया है और इसके अधिकारियों ने हाल के सप्ताहों में रिलायंस के साथ अपने रिटेल वेंचर में निवेश करने के लिए व्यापक बातचीत की है।

यह भी हो सकती है संभावना
जानकारी के अनुसार मुबादला रिलायंस रिटेल में 1 बिलियन डॉलर का निवेश को तैयार है, इसके लिए दोनों के बीच तेजी के साथ बातचीत दौर जारी है। वहीं दूसरी ओर जानकारों का कहना है कि वार्ता एडवांस स्टेज पर है। कंपनी 500 मिलियन डॉलर से 1 बिलियन डॉलर के बीच निवेश कर सकती है। विदेशी मीडिया को दिए बयान के अनुसार रिलायंस के एक प्रवक्ता का कहना है कि कंपनी किसी भी ट्रांजेक्शन की पुष्टि या खंडन नहीं कर सकती है। कंपनी निरंतर आधार पर विभिन्न अवसरों का मूल्यांकन करती है। वहीं दूसरी ओर मुबादला की ओर से टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। मुबादला अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी के बाद दूसरा सबसे बड़ा स्टेट इंवेस्टर है, जो लगभग 240 बिलियन डॉलर की संपत्ति का प्रबंधन करता है।

यह भी पढ़ेंः- सितंबर के महीने में 3 रुपए तक सस्ता हुआ डीजल, जानिए आज कितने हो गए हैं दाम

और भी कई नाम आ सकते हैं सामने
रिलायंस जल्द ही अपनी रिटेल यूनिट में कुछ निवेशों की घोषणा कर सकता है। यह निवेश उन्हीं निवेशकों में से आएगा जिन्होंने जियो प्लेटफॉम्र्स में निवेश किया था। इसके लिए कई निवेशकों के साथ बातचीत चल रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक और गूगल दोनों ने रिलायंस के डिजिटल कारोबार में निवेश किया है, लेकिन रिटेल में निवेश की संभावना कम ही दिखाई दे रही है। वहीं दूसरी ओर जापान के सॉफ्टबैंक ग्रुप ने भी रिलायंस रिटेल में निवेश करने में रुचि व्यक्त की थी, लेकिन बातचीत आगे नहीं बढ़ी क्योंकि कंपनी अन्य निवेशकों को प्राथमिकता दे रही थी।