फॉर्च्यून 500 सूची में RIL समेत भारत की कंपनियां शामिल, IOC पहले पायदान पर पहुंची

|

Published: 01 Aug 2018, 08:39 PM IST

अमरीकी पत्रिका फॉर्च्यून की दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से शीर्ष 500 कंपनियों की 2018 सूची में सात भारतीय कंपनियों को शामिल किया गया है।

फॉर्च्यून 500 सूची में RIL समेत भारत की कंपनियां शामिल, IOC पहले पायदान पर पहुंची

नई दिल्ली। अमरीकी पत्रिका फॉर्च्यून की दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से शीर्ष 500 कंपनियों की 2018 सूची में सात भारतीय कंपनियों को शामिल किया गया है, जिसमें सरकारी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) भारत की शीर्ष रैंकिंग कंपनी के रूप में शामिल है, तथा रिलायंस इंडस्ट्रीज (आईआईएल) ने अपनी स्थिति सुधारी है। अमरीकी दिग्गज कंपनी वालमार्ट इस सूची में शीर्ष पर है, जबकि भारतीय कंपनी इंडियन ऑयल पिछले साल 168वें स्थान से बढ़कर 137वें स्थान पर रहा।

19,000 अरब डॉलर का राजस्व अर्जित किया
फॉर्च्यून ने कहा, "दुनिया की 500 सबसे बड़ी कंपनियों ने 2017 में 19,000 अरब डॉलर का राजस्व अर्जित किया तथा इस साल फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनियों ने कुल 6.77 करोड़ लोगों को रोजगार दिया और हमारी उपस्थिति 33 देशों में है।" आपको बता दें कि यह अमरीकी पत्रिका हर साल इस तरह की सूची तैयार करती है।

आरआर्इएल ने किया सुधार
मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी आरआर्इएल का मुख्य कारोबार तेल और गैस है, हालांकि कंपनी रिलायंस जियो के माध्यम से दूरसंचार क्षेत्र भी कारोबार करती है। यह भारत की शीर्ष निजी कंपनी है, जो इस सूची में शामिल थी। कंपनी इस साल 53 स्थानों के सुधार के सात 148वें नंबर पर रही, जबकि पिछले साल यह 203 वें नंबर पर थी। सरकारी तेल और प्राकृतिक गैस कॉर्प (ओएनजीसी) का नाम 2017 की सूची में नहीं था, लेकिन इस साल कंपनी फोर्ब्स 500 सूची में 197वें स्थान पर रही।

इन खबरों को भी पढ़ें
गोल्ड से भी दोगुनी महंगी यह घास, यौन शक्ति बढ़ाने के आती है काम

मात्र 70 पैसे के प्रीमियम पर मिल रहा है इंश्योरेंस, इतने समय में बन जाएंगे करोड़पति

दुबर्इ में निकली इन दो भारतीयों की लाॅटरी, एक मिले 7 करोड़ तो दूसरे को मिली बीएमडब्ल्यू कार

आरबीआर्इ के इस कदम के बाद बढ़ गर्इ आपके होम लोन आैर कार लोन की बढ़ गर्इ र्इएमआर्इ

महंगी होने जा रही है आम आदमी की कार, इतनी बढ़ जाएगी कीमत

ट्रेड वाॅरः अमरीका ने चीन के उत्पादों पर बढ़ाएगा 10 फीसदी उत्पाद शुल्क

ग्लोबल करेंसी वाॅर से भारत के विकास को होगा बड़ा खतरा: उर्जित पटेल

संसद में पेट्रो पदार्थों की कीमत पर पूछा था सवाल, पेट्रोलियम मंत्री नहीं दे सके जवाब

Related Stories