बेकाबू हुआ कोरोना, 16.5 % तक पहुंची संक्रमण की दर

|

Published: 24 Nov 2020, 11:18 PM IST

नवम्बर में 1900 जांच में मिले 300 से अधिक संक्रमित

बारां. शहर समेत जिले में दिन-प्रतिदिन कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है। मंगलवार को जिले में 46 कोरोना रोगी मिले। इनमें 27 कोरोना संक्रमित बारां में मिले हैं। यह संख्या नवम्बर माह की सर्वाधिक रही। इससे पहले इसी माह एक दिन में 43 कोरोना संक्रमित मिले थे। इस माह के अन्तिम दिनों में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढऩे से लोगों में कोरोना को लेकर खासा भय व्याप्त होने लगा है। नवम्बर माह में कोरोना संक्रमण की भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बीते चौबीस दिनों कोरोना संकमण की दर 16.5 प्रतिशत तक पहुंच गई। इससे पहले सितम्बर माह में यह 11.3 प्रतिशत थी। पूरे देश में कोरोना की नई लहर से कोरोना को लेकर प्रशासन व पुलिस भी अब गंभीर हो गए तो चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने संदिग्ध रोगियों की जांच का दायरा भी बढ़ा दिया है। अब जिले में प्रतिदिन 200 से 225 नमूने लेकर जांच के लिए भिजवाए जा रहे हैं।

read also : कोटा मंडी 24 नवम्बर : चना व धान में तेजी रही
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार जिले में दीपावली पर्व के दौरान लोगों के लापरवाही बरतने के परिणाम अब सामने आ रहे हैं तथा कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। अब वैवाहिक आयोजन शुरू होने से लोगों के साथ पुलिस, प्रशासनिक व चिकित्सा विभाग के अधिकारियों की चिंता और भी बढ़ गई। आने वाले दिनों में बारां व अन्ता में निकाय चुनाव होने है, ऐसे में राजनतिक दलों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के प्रचार के दौरान घर-घर पहुंचने से संक्रमण और भी तेजी से फैल सकता है। सर्दी का यह मौसम विशेषज्ञ पहले ही कोरोना संक्रमण के लिए सबसे बुरा बता चुके हैं।

read also : दो हजार रुपए में पड़ी 45 रुपए की किताब
इस माह 1898 में से 314 संक्रमित
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से गत एक नवम्बर से 23 नवम्बर की अवधि में 1898 संदिग्ध लोगों की कोरोना जांच के लिए सेम्पल लिए है। इनमें से 314 जने कोरोना संक्रमित मिले हैं। नवम्बर में सेम्पल की संख्या के अनुपात में एक तिहाई से भी कम है। ऐसे में कोरोना संक्रमण के यहां-वहां मौजूद रहने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता।

read also : मौत ने बाइक सवार को पीछे से दबोचा
अभी शुरू नहीं बारां में कोरोना जांच
जिला मुख्यालय पर सरकारी दावों के विपरीत निर्धारित तिथि के एक माह बाद भी कोरोना की जांच शुरू नहीं हो सकी है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग (जिला चिकित्सालय) के अधिकारी जांच शुरू करने के दावे के दौरान झूठ छिपाने से भी गुरेज नहीं कर रहे। यहां नवस्थापित कोरोना जांच लैब में अब तक माइनस 80 डिग्री तापमान का डीप फ्रीजर अभी तक कार्य नहीं कर रहा। चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि बारां में जांच सुविधा शुरू होने पर प्रतिदिन 400 से अधिक सेम्पल की जांच हो सकेगी तथा उसी दिन रिपोर्ट मिलने से संक्रमितों का समय पर उपचार शुरू किया जा सकेगा।

read also : चाकू से हमला कर युवक की हत्या

पूरे देश में कोरोना की एक और लहर चल गई है। ऐसे में लोगों को शुरुआती दौर की भांति सावचेत रहना होगा। कोरोना गाइड लाइन की पालना ही इसका उपचार है। वैक्सीन आने में समय लगेगा। जिला चिकित्सालय में कोरोना जांच के लिए वहां का प्रबंधन तत्परता से जुटा हुआ है। जल्द ही बारां में जांच शुरू होने की उम्मीद है।
डॉ. सम्पतराज नागर, सीएमएचओ बारां