शहर और कायदे दोनो ही किए 'अनलॉक'

|

Published: 10 Jun 2020, 06:28 PM IST

Corona virus गोले एक तरफ भीड़ एक तरफ, मेडिकल स्टोर के बाहर हो रही सोशल डिस्टेसिंग की अनदेखी

कोटा. शहर में सुबह 9 से रात 8 बजे तक शहर का बाजार खुलने लगा बाजार खुलने के दौरान संक्रमण की रोकथाम के लिए कुछ नियम बनाए गए लेकिन ऐसा लगता है कि शहर अनलॉक होने के साथ ही वे नियम भी अनलॉक होकर रह गए। अनलॉक होने के बाद एक जून से बाजार की स्थिति लगातार बिगडती जा रही है। ना तो दुकानों के सामने सोशल डिस्टेसिंग के लिए बने गोले बचे है ना ही उसका पालन कराने की मंशा दुकानदारों में बची है। कई जगह देखा तो गोले धुधले से पड़ गए। शहर के प्रमुख बाजार सहित मेडिकल की दुकानों के बाहर ये आलम नजर आ रहा है कि किस तरह संक्रमण के खतरे को बढ़ावा दिया जा रहा है।

कुछ दिन सख्ती अब प्रशासन भी चुप

1 जून को जब बाजार खोला गया तो प्रशासन ने पूरी निगरानी की थी। शहर में ठेले पर सब्जी बेचने वाले, सब्जि मंडी में मॉस्क और सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान सहित राशन की दुकानो और मेडिकल दुकान पर पूरी पालना की गई लेकिन ये नियम सिर्फ दो दिन ही लागू हुए शहर में दादाबाड़ी, महावीर नगर, केशवपुरा,अन्नतपुरा सब्जिमंडी के हाल देखे तो यहां सब्जी विक्रेता बिना मॉस्क के नजर आए।

मेडिकल स्टोर के बाहर नही हो रही सोशल डिस्टेसिंग की पालना

शहर के कई मेडिकल स्टोर पर जाकर देखा तो सोशल डिस्टेसिंग नियमों की धज्जियंा उडती नजर आई। रामपुरा मेडिकल स्टोर पर बड़ी संख्या में लोग झुंड बनाकर दवाई लेते नजर आए। बाहर गोले भी धुधंले हो गए। वहीं महावीर नगर के एक बड़े मेडिकल स्टोर पर गोले बने है नीचे उसके बाद पांच सीढ़ी चढकर दुकान है सभी लोग कांउटर पर झूम रहे थे तो अंदर जो कर्मचारी थे वे खुद सोशल डिस्टेसिंग की पालना करते नजर नही आए। जब उनसे पूछा तो जवाब मिला कि लोग मानते ही नही। कुछ समझाओं तो दूसरी दुकान पर चले जाते है।