बारां में बारिश का कहर, मकान और स्कूल भवन गिरे, दो की मौत

|

Published: 01 Aug 2021, 08:18 PM IST

कवाई (बारां). लगातार हुई बारिश से कस्बे सहित थाना क्षेत्र के अंतर्गत दो मकान व एक विद्यालय भवन ढह गए हैं। हादसे में 2 की दबने से मौत हुई है।

कवाई (बारां). लगातार हुई बारिश से कस्बे सहित थाना क्षेत्र के अंतर्गत दो मकान व एक विद्यालय भवन ढह गए हैं। हादसे में एक जने की दबने से मौत हुई है। थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम टांची में करीब 20 वर्ष पहले बने प्राइमरी विद्यालय भवन की बिल्डिंग बारिश के दौरान रविवार दोपहर को पिल्लर गिरने से धराशायी हो गई। थाना प्रभारी किरदार अहमद ने बताया कि ग्रामीणों द्वारा मिली सूचना पर घटनास्थल पहुंच कर विद्यालय की छत के मलबे में दबे टाची निवासी एक अनाथ युवक के शव को जेसीबी की सहायता से निकाला गया। इस भवन में प्राइमरी विद्यालय चलता था। क्रमोन्नत होने के बाद से यह बंद पड़ा है। भवन में विमंदित अनाथ युवक धनराज नाथ (28) हजारी नाथ रहता था। रविवार को वह बरामदे में तख्ते पर बैठा था। इस दौरान अचानक छत उस पर आ गिरी। छत व दीवार के बीच दबने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। मृतक के शव को स्वास्थ्य केंद्र पर लाकर पोस्टमार्टम करवा परिजनों को सौंप दिया गया।

छबड़ा में मकान की दीवार गिरने से महिला की मौत
छबड़ा. क्षेत्र में बारिश के बाद रविवार को कच्चे मकान की दीवार गिरने से दबकर महिला की मृत्यु हो गई। बापचा थाना क्षेत्र के कड़ैयाहाट सरपंच दोली बाई लोधा ने बताया कि गागनियाखेड़ी में रहने वाले कैलाश चंद्र अहीर की पत्नी गुड्डीबाई (50) उर्फ जाम बाई अहीर रविवार सुबह कच्चे मकान की दीवार गिरने से दब गई। इसके बाद वह अचेत हो गई। उसे अस्पताल लाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। बापचा पुलिस एवं नायब तहसीलदार माधव लाल बेरवा भूअभिलेख निरीक्षक हेमराज मीणा पटवारी मुकेश मीणा भी मौके पर पहुंचे। सरपंच दोली बाई लोधा एवं ग्रामीणों ने मृतका के परिजनों को प्राकृतिक आपदा राहत कोष से मुआवजा देने की मांग की है।