बारां के शाहाबाद में 12 इंच से ज्यादा बारिश, देवरी में बाढ़ के हालात

|

Published: 31 Jul 2021, 07:04 PM IST

बीते 24 घंटे में बारां के शाहाबाद में 316, कोटा के खातौली में 151, पीपल्दा में 105 एमएम बारिश दर्ज
पार्वती नदी में उफान से कोटा-खातौली मार्ग अवरुद्ध
खातौली समेत आधा दर्जन गांवों में पानी भरा
लुहावद की अस्थाई पुलिया टूटने से तीन पंचायतों का जिला मुख्यालय से सम्पर्क कटा

बारां के शाहाबाद में 12 इंच से ज्यादा बारिश, देवरी में बाढ़ के हालात

कोटा. हाड़ौती अंचल में बीते दो दिन से जोरदार बारिश हो रही है। जयपुर मौसम विभाग ने बीते 24 घंटे में बारां जिले के शाहाबाद में 304 एमएम, कोटा जिले के खातौली में 151 व पीपल्दा में 105 एमएम बारिश दर्ज की है।


बारां के देवरी की पलको नदी में उफान से बाढ़ के हालात बन गए हैं। नदी किनारे पुरानी पुलिस चौकी के पास सड़क पर रखी एक कार करीब आठ 10 फ ीट दूर तक बह गई। बमोरीकलां में कच्चे मकान की दीवार गिरने से भैंस की मौत हो गई। केलवाड़ा क्षेत्र की वसुंधरा कॉलोनी, जगदीशपुरा रोड पर निचली बस्तियों में बारिश का पानी का भर गया।

जलवाड़ा क्षेत्र में दस घंटे बारिश हुई है। इससे बरनी, पार्वती, खटफ ाड़, उतावली, सुखार नदी पर चादर चल रही है। गांगी के खाल में भी पानी की आवक हुई है। क्षेत्र के ख्यावदा, कुंडी, बालापुरा, छत्रगंज, रामबिलास, खलदा नदी पार के अरनिया, बहादुरगंज, पिपलोद सहित अन्य गांवों में जोरदार बारिश से खेत लबालब हो गए हैं। पार्वती नदी की पुलिया पर चादर चलने से अंतरराज्यीय बराना मार्ग का 5 दिन से यातायात बंद है। वहीं अटरू व किशनगंज उपखंड के करीब 2 दर्जन गांवों का संपर्क भी कटा हुआ है।

खातौली के आसपास कई गांवों में बस्तियों में पानी घुसा
कोटा में शुक्रवार रात से शनिवार दिनभर तेज व रिमझिम बारिश का दौर चलता रहा। जिले के खातौली में भारी बारिश हुई। रजोपा, बांगरोद, श्रीपुरा, रामपुरिया धाबाई गांव व खातौली के वार्ड तीन में 600 घरों की बस्ती इन्द्रा कॉलोनी में पानी घुस गया। सरकारी स्कूल तालाब बन गया। इससे दो कच्चे मकानों की दीवारें गिर गई। मध्यप्रदेश में हो रही बारिश के चलते पार्वती नदी उफन गई। इससे कोटा-खातौली मार्ग अवरुद्ध हो गया। वहीं, चम्बल नदी में भी पानी की आवक बनी हुई है। इससे खातौली-सवाईमाधोपुर मार्ग बीते एक सप्ताह से बंद पड़ा है। पीपल्दा में भी तेज बारिश हुई है। इटावा उपखण्ड के लुहावद गांव में खाड़ी की अस्थाई पुलिया टूटने से तीन ग्राम पंचायत लुहावद, लक्ष्मीपुरा, दुर्जनपुरा का जिला मुख्यालय से सम्पर्क टूट गया।

बूंदी के पाण्डूला के खाल में पशुपालक बहा, छात्र ने बचाया
बूंदी जिले में बारिश का दौर शनिवार शाम तक रुक-रुक कर चलता रहा। इन्द्रगढ़ व नैनवां में झमाझम बारिश हुई। खेतों में पानी भर गया। इंद्रगढ़ क्षेत्र में शिवदान सागर तालाब, इंद्रायणी नदी, इंद्रायणी बांध आदि में पानी की आवक हो गई। इंद्रगढ़ कस्बे में बड़े जैन मंदिर के पास पक्का मकान ढह गया। वहीं पाण्डुला गांव के खाल में शाम साढ़े चार बजे भैंस को निकालने के दौरान पशुपालक बह गया, उसे एक छात्र ने बचाया। बीते चौबीस घंटों में बूंदी में 24, तालेड़ा में 17, केशवरायपाटन में 54, इन्द्रगढ़ में 87, नैनवां में 78, हिण्डौली में 47 एमएम बारिश दर्ज की गई। झालावाड़ क्षेत्र में अलसुबह से रिमिझम बारिश का दौर चल रहा है।