कोरोना में गिरी दो डॉक्टरों पर गाज,मेडिकल कॉलेज प्राचार्य ने अब ये की नई व्यवस्था

|

Published: 12 Jun 2020, 04:07 PM IST

Corona virus infection मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में जली ओर कच्ची रोटियों की ख़बर सामने आने के बाद चिकित्सा महकमा सख्त

कोटा. मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में जली और कच्ची रोटियों की ख़बर सामने आने के बाद चिकित्सा महकमा मरीजों के खाने ओर अन्य व्यवस्थाओं की मॉनिटरिंग को लेकर खासा सक्रिय हुआ है। लॉकडाउन में मिली बहुत सारी शिकायतों पर जांच चल रही है। चौकाने वाली बात ये है कि कोटा मेडिकल कॉलेज अब तक लापरवाह दो डॉक्टरों को घर भेज चुका है उनकी सेवाएं समाप्त कर दी गई है।

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ विजय सरदाना ने बताया कि कोरोना काल में मामलों को लेकर मेडिकल कॉलेज को करीब आधा दर्जन शिकायत प्राप्त हुई है। कुछ गंभीर किस्म की शिकायतों पर मेडिकल कॉलेज प्रशासन सख्त रूप अपना रहा है। प्रिंसिपल डाक्टर सरदाना ने बताया कि इस दौरान दो डॉक्टर को घर का रास्ता बता दिया तो कुछ को दूसरे विभाग में शिफ्ट किया है। मरीजों की देखरेख के लिए नर्सिंग अधीक्षक के साथ में एनएचएम अधिकारी को कोरोना मरीज से मिलने के लिए भिजवाया जा रहा है। ताकि उनकी कोई भी शिकायत है बता सके।


गौरतलब है की कोविड अस्पताल से सोश्यल मीडिया पर अव्यवस्थाओं को लेकर वीडियो वायरल हुआ था । इस वीडियो में मरीजों को दिए जाने वाला खाना काफी खराब बताया। कोरोना संदिग्ध वार्ड में भर्ती मरीजों को कच्ची व जली रोटियां व पानी वाली दाल देना बताया। वीडियो के वायरल होते ही अस्पताल प्रशासन में हड़कम्प मच गया। सोश्यल मीडिया पर वायरल वीडियो में अस्पताल में संदिग्ध वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए खाने की व्यवस्था ठीक नहीं है। संदिग्ध मरीजों के लिए कच्ची व जली रोटियां दी जा रही है।

दाल में दाल गायब व सिर्फ पानी व नमक तेज है। बेड पर गंदगी और बेडशीट भी गायब है। वार्ड में भीषण गर्मी में भी कू लर नहीं है। पंखे है, लेकिन उनमें से कई नहीं चल रहे है। मरीज गर्मी से परेशान है। पानी का कैंपर भी एक ही है। उसी कैंपर से सब मरीज पानी पीते है। जबकि राज्य सरकार की ओर मरीजों के लिए खाने के लिए पर्याप्त बजट दिया हुआ है। बावजूद अस्पताल प्रशासन मरीजों को खराब खाना खिला रहा है।


व्यवस्थाओं में नहीं हो रहा सुधार
मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने पिछले दिनों सीनियर डॉक्टर व नर्सिंग इंचार्ज को वार्डों में सुबह रोजाना राउंड लेकर मरीजों के लिए बेहतर व्यवस्था करने के लिए कहा था।
डॉक्टर राउंड ले रहे है। मरीज उन्हें व्यवस्था सुधार के लिए कह रहे है, लेकिन उनक अनदेखी की जा रही है।


पहले भी जारी हो चुके वीडियो
वायरल कोविड़ अस्पताल में कैथून निवासी लालचंद की बेड पर तड़प-तड़प कर मौत
का वीडियो वायरल हुआ था। उससे पहले भी पॉजिटिव वार्ड में भर्ती एक महिला
का हंगामा करते हुए वीडियो वायरल हो चुका है। तमाम शिकायतों के बाद मेडिकल प्राचार्य डॉक्टर विजय सरदाना ने एक्शन लेते हुई कोविड सेंटर में नई व्यस्थाएं लागु की है ।