उत्तर प्रदेश की तर्ज पर अब राजस्थान में भी गिरेगी अपराधियों पर गाज, कोटा में अपराधी का मकान तोड़ने की तैयारी

|

Updated: 22 Jan 2021, 11:32 PM IST

कोटा. उच्चतम न्यायालय के कुख्यात व एक लाख के इनामी अपराधी असलम शेरखान उर्फ चिंटू को 21 दिन के भीतर गिरफ्तार कर राजस्थान उच्च न्यायालय में पेश करने के आदेश के बाद पुलिस और प्रशासन ने सख्ती दिखानी शुरू कर दी है। अब पुलिस के साथ प्रशासन ने भी इस अपराधी पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

कोटा. उच्चतम न्यायालय के कुख्यात व एक लाख के इनामी अपराधी असलम शेरखान उर्फ चिंटू को 21 दिन के भीतर गिरफ्तार कर राजस्थान उच्च न्यायालय में पेश करने के आदेश के बाद पुलिस और प्रशासन ने सख्ती दिखानी शुरू कर दी है। अब पुलिस के साथ प्रशासन ने भी इस अपराधी पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

नगर विकास न्यास की ओर से शुक्रवार को हिस्ट्र्रीशीटर असलम शेरखान के छावनी बंगाली कॉलोनी मकान में अवैध व बिना अनुमति निर्माण करने के संबंध में नोटिस चस्पा कर दिया है। 25 जनवरी को दोपहर तीन बजे तक न्यास में उपस्थित होकर जवाब देने को कहा है। इसके बाद अवैध निर्माण को तोडऩे की कार्रवाई होगी।

पुलिस ने गिरफ्तारी के लिए तीन टीमें और बनाई
पुलिस ने भी चिंटू की गिरफ्तारी के लिए प्रयास तेज कर दिए हैं। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पहले तीन उपाधीक्षकों के नेतृत्व में तीन टीमें गठित की थी। शुक्रवार को तीन टीमें और गठित कर दी है। अब छह टीमें उसे खोजने में जुटी है। आरोपी के संभावित ठिकानों पर दबिशें दी जा रही है। उसके कब्जे पर चौबीस घण्टे निगरानी रखी जा रही है।

एक साथ चार गिरफ्तारी वारंट जारी
चिंटू के विरुद्ध कोटा के न्यायालय की ओर से चार लंबित प्रकरणों में गिरफ्तारी वारंट जारी किए गए हैं। एडवोकेट नीलकमल यादव ने बताया कि एडीजे क्रम 6 कोटा न्यायालय तथा एससी एसटी कोर्ट ने वारंट जारी किए हैं। गुमानपुरा थाना प्रभारी मनोज सिंह सिकरवार की ओर से सभी न्यायालयों में लंबित प्रकरणों में फ रार आरोपी की गिरफ्तारी के लिए निरंतर प्रयास कर आग्रह किया गया। न्यायालय ने आग्रह को स्वीकार करते हुए गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिए हैं।

पोस्टर चस्पा किए
पुलिस महानिदेशक के अनुमोदन पर हाल ही चिंटू पर एक लाख का इनाम घोषित किया है। पुलिस ने असलम शेरखान की सूचना देने वालों को एक लाख का इनाम देने के संबंध में जगह-जगह पोस्टर चस्पा कर दिए हैं।