10 हजार डस्टबिन बांटकर खरगोन के नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल

|

Published: 05 Jun 2017, 09:16 PM IST

पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में नपा ने घर-घर बांटे डस्टबिन। गोल्डन बुक ऑफ रिकॉर्ड में शामिल, कार्यक्रम में आधे से ज्यादा पार्षदों ने नहीं लिया हिस्सा
खरगोन. स्वच्छता अभियान के तहत पूरे देश में 17वां स्थान हासिल कर खरगोन नगर पालिका ने सुर्खियां बटोरी थी। इसी क्रम में रविवार को शहर के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। कचरा संग्रहण के लिए नगर पालिका द्वारा शहर के सभी वार्डों में 10 हजार डस्टबिन बांटे गए। ये डस्टबिन घर-घर जाकर अधिकारियों ने दिए। प्रत्येक परिवार को दो डस्टबिन (नीले व हरे रंग) के बांटे गए। हालांकि पूरा आयोजन आनन-फानन में हुआ। इसमें परिषद के आधे से ज्यादा पार्षद नहीं पहुंचे।आयोजन की दिलचस्प बात यह थी कि वार्डों में डस्टबिन बांटने का काम पूरा भी नहीं हुआ था कि दिल्ली से आए अधिकारी ने मनीष विश्नोई हाथों-हाथ गोल्डन बुक ऑफ रिकॉर्ड का सर्टिफिकेट कलेक्टर सहित नपा अधिकारियों को सौंप दिया। एमजी रोड पर मेडिकल, कपड़ा व्यापारी और फल विक्रेताओं को डस्टबिन बांटते हुए अधिकारी-जनप्रतिनिधि बोले की आज से कचरा सड़क पर नहीं फेंके। शहर को स्वच्छ रखना है, तो कचरे को डस्टबिन में इकट्ठा करें और फिर नपा की गाड़ी में डालें। सराफा बाजार में रहवासी महिलाओं से घर का गिला और सूखा कचरा अलग-अलग इकट्ठा करने की सीख दी। कलेक्टर अशोक वर्मा बोले की घर का कचरा बाहर फेंकने से वातावरण दूषित होता है। हम सब की जिम्मेदारी है कि शहर स्वच्छ और सुंदर रहे। इसलिए कचरे का संग्रह कर उसके निष्पादन में नपा को सहयोग प्रदान करें।
ढोल-ताशों के साथ निकाला कारवांनगर पालिका से डस्टबिन बांटे की शुरुआत शाम 5 बजे से  हुई। यहां से ढोल-ताशे बजाते हुए कारवां निकला। इस दौरान विधायक बालकृष्ण पाटीदार, कलेक्टर अशोक कुमार वर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष बाबूलाल महाजन, नपा अध्यक्ष विपिन गौर, उपाध्यक्ष कन्हैया  कोठाने, सभापति दीपक चौरे, किशोर पुजारी, नपा सीएमओ निशिकांत शुक्ला सहित कर्मचारियों द्वारा प्रत्येक परिवार व दुकान पर दस्तक देकर स्वच्छता का संदेश दिया।

नगर पालिका के प्रयायों से शहर को स्वच्छता का अॅवार्ड मिला। इस बार गोल्डन बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड बनाया गया। यह खुशी का मौका है। इसलिए नपा अधिकारी, पार्षद व जनता बधाई के पात्र है।बालकृष्ण पाटीदार, विधायक
हमारे घर के आसपास साफ-सफाई रखना सभी की जिम्मेदारी है। डस्टबिन बांटने के साथ लोगों को स्वच्छता की सीख दी गई। खरगोन के लिए यह बड़ी उपलब्धि का दिन है। अशोक कुमार वर्मा, कलेक्टर