बाल संप्रेक्षण गृह से भागे दो बाल अपचारी

|

Updated: 14 Sep 2021, 10:52 PM IST

-महिला बाल विकास विभाग में हड़कंप, की थाने में शिकायत
-एक की हो चुकी थी जमानत, छुटने के कुछ घंटे पहले भागा

खंडवा.
रतागढ़ स्थित बाल संप्रेक्षण गृह से दो बाल अपचारी भाग निकले। घटना सोमवार रात की बताई जा रही है। सुबह इसकी जानकारी मिलते ही महिला बाल विकास विभाग में हड़कंप मच गया। सुबह से अधिकारी व कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच गई। इस मामले में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है।
बाल संप्रेक्षण गृह में सोमवार रात कक्ष क्रमांक 9 में रह रहे दो बाल अपचारी दरवाजे का नकुचा तोड़कर, परिसर की दीवार फांद फरार हो गए। एक बाल अपचारी 17 साल का है, जिसे हरदा पुलिस ने टिमरनी में थाना प्रभारी के घर में चोरी के मामले में पकड़ा था। उसे 9 सितंबर को ही बाल संप्रेक्षण गृह में भेजा गया था। टिमरनी निवासी बाल अपचारी की सोमवार को जमानत भी हो गई थी, जिसे मंगलवार को छोड़ा जाना था। इसके पूर्व ही वो भाग निकला। दूसरा बाल अपचारी 17 साल 6 माह का है, जिसे भगवानपुरा जिला खरगोन पुलिस ने नाबालिग के अपहरण, दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट की धाराओं में बाल संप्रेक्षण गृह भेजा गया था। भगवानपुरा वाला बाल अपचारी 7 अगस्त से बाल संप्रेक्षण गृह में रह रहा था।
दो लोगों के जिम्मे सुरक्षा व्यवस्था
दो बाल अपचारियों के बाल संप्रेक्षण गृह से फरार होने के बाद यहां की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल उठ रहे हैं। पूर्व में भी यहां से बाल अपचारियों के भागने की कई घटनाएं हो चुकी है। सोमवार रात भी यहां सिर्फ दो लोगों की ड्यूटी थी। जिसमें एक चौकीदार और एक होमगार्ड जवान यहां मौजूद था। घटना की जानकारी भी मंगलवार सुबह ही लग पाई। जिसके बाद महिला बाल विकास परियोजना अधिकारी व संप्रेक्षण गृह प्रभारी एचएस अरोरा और कोतवाली टीआइ बलजीतसिंह बिसेन मौके पर पहुंचे। बाद में अरोरा ने थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई।