दावाः दोहरे हत्या कांड का खुसाला

|

Published: 14 May 2021, 02:30 PM IST

-7 मई को बोरे में मिला था महिला और बच्चे का शव
-यूपी के कानपुर की रहने वाली थी महिला
-सूरत में कामकाज के दौरान हरदुआ कला निवासी के संपर्क में आई

कटनी. जिले की विजयराघवगढ़ थाने की पुलिस ने एक सप्ताह पुराने दोहरे हत्या कांड के खुलासे का दावा किया है। घटना के तहत सात मई को थाना क्षेत्र के हरदुआ कला इलाके में एक बोरे में एक महिला और बच्चे का शव मिला था। पुलिस को इसकी जानकारी गांव वालों से मिली थी।

विजयराघवगढ़ थाना पुलिस के अनुसार जांच के दौरान महिला और बच्चे की गुमशुदगी की कोई रिपोर्ट दर्ज न होना बड़ी चुनौती थी। घटना स्थल से यह स्पष्ट था कि आरोपी कोई आसपास का ही है। ऐसे में वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश व मार्गदर्शन में थाना प्रभारी सहित स्टॉफ ग्राम पडखुरी निवासी सुरेश पटेल के यहां पहुंची, जिसके तीन बेटे हैं। पूछताछ में उन्होंने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

बताया कि अज्ञात शव रुचि उर्फ मोहनी निवासी उत्तरप्रदेश के कानपुर के ग्राम बनसठी थाना चौबेपुर का है, जिसका संबंध 3 से 4 साल पहले लवकुश पटेल से सूरत में काम के दौरान हो गया था। शुरूआती दिनों में तो सब ठीक रहा। लेकिन कुछ दिनों बाद इन दोनों के बीच विवाद शुरू हो गया, जिसके बाद लवकुश पटेल, रुचि ओर बच्चे को लेकर अपने गांव पडखुरी लौट आया। 2 मई को भाई अरुण से रुचि का विवाद हो गया तो अरुण ने पहले महिला की हत्या कर दी फिर बच्चे की हत्या कर साक्ष्य छुपाने के लिए तीनों भाई मिलकर बाइक से शव को लेकर एक कुएं तक आए और उसी कुएं में फेंक दिया। फिर महिला व बच्चे के कपड़े, पास के खेत में जला दिया।

इस दोहरे हत्याकांड में आरोपी लवकुश पटेल, संदीप, अरूण, सुरेश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मामले का पर्दाफाश करने में थाना प्रभारी निरीक्षक सुधाकर बारस्कर, सहित सब इंस्पेक्टर आरएस चौधरी, एएसआइ मनसुखलाल साहू, प्र.आ. सोमनाथ शर्मा,प्र.आ. केके शुक्ला, देवचन्द्र भलावी, जनार्दन तिवारी, अरविंद गर्ग, आरक्षक पप्पू प्रजापति, महिला आरक्षक नेहा सिंह, साइबर प्रभारी नीरज दुबे, आ. प्रशांत सहित अन्य स्टॉफ शामिल रहे।