इमलिया के डेढ़ सौ घरों में बुखार का प्रकोप, 20 दिन पहले सैंपलिंग में 4 पॉजिटिव, फिर नहीं लिए नमूने

|

Published: 15 May 2021, 10:56 AM IST

ग्रामीण अंचलों में मेडिकल स्टोर से दवा लेकर ही बीमारी को हरा रहे ग्रामीण.

कटनी. बहोरीबंद विकासखंड का इमलिया गांव। दो सौ घरों वाले इस गांव में डेढ़ सौ से ज्यादा घरों में बुखार का प्रकोप बीते डेढ़ माह से है। बीस दिन पहले स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कुछ ग्रामीणों की सैंपलिंग की तो कोरोना संक्रमण के चार पॉजिटिव सामने आए। ग्रामीणों ने बताया कि इसके बाद यहां नमूने नहीं लिए गए। बुखार से पीडि़त ज्यादातर ग्रामीण समीपी मेडिकल स्टोर में दवाएं लेकर बीमारी को हरा रहे हैं। स्वस्थ हो रहे हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि यहां दो माह में चार लोगों की मौत हो चुकी है। मौत के कारण क्या रहे यह स्पष्ट नहीं है। मौत से पहले ग्रामीणों की तबियत बिगड़ी थी। मृतकों के परिजनों का कहना है कि कोरोना से मौत तो तब पता चलता जब नमूने लिए जाते और जांच रिपोर्ट आ जाती। गांव में संदिग्ध मरीजों के समय पर नमूने नहीं लिए जा रहे हैं।

ढीमरखेड़ा विकासखंड के पिंडरई गांव में तीन लोगों की रिपोर्ट शुक्रवार को करोना पॉजिटिव आई। इसके साथ ही बरेली, रामपुर, और उमरियापान में एक-एक नए संक्रमित सामने आए। इन गांव के रहवासियों ने बताया कि गांव में कई लोग बुखार से पीडि़त हैं।