नदी की बीच धार बना दी सड़क, पानी से रेत निकालकर खड़ा किया पहाड़

|

Published: 14 May 2021, 12:29 PM IST

रेत खनन में खुलेआम मनमानी, प्रदूषण नियंत्रण विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन का खुलेआम उलंघन.

- तबाह हो रहा नदी का प्राकृतिक स्वरूप.

कटनी. बड़वारा थानाक्षेत्र के इमलिया गांव स्थित उमड़ेर नदी की घाट पर रेत खनन के दौरान मनमानी की तस्वीरें ग्रामीणों ने गुरूवार को सोशल मीडिया में वायरल की। आरोप लगाया कि विस्टा कंपनी ने नदी की बीच धार अवैध रूप से कच्ची सड़क बना दी। पानी के अंदर से मनमाना रेत खनन कर रेत का पहाड़ खड़ा कर दिया।

खुलेआम मनमाने खनन से नदी का अस्तित्व संकट में पड़ गया है। शिकायत के बाद भी अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। खनिज विभाग ने तो जैसे मनमाने खनन पर आंख ही मूंद ली है। प्रदूषण नियंत्रण विभाग और पुलिस का रवैया भी उदासीन है। बतादें कि एनजीटी ने रेत खनन के दौरान पानी के अंदर से रेत खनन प्रतिबंधित किया है।

मनमाने खनन को लेकर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड कटनी के क्षेत्रीय अधिकारी एसपी झा बताते हैं कि रेत खनन में नियमों का पालन नहीं करने पर विस्टा कंपनी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। जल्द ही ठोस कार्रवाई की जाएगी।

मारपीट के निशान दिखाता पीडि़त युवक.

गुर्गों ने घर उठाकर ग्रामीण से की मारपीट, रिपोर्ट करने थाने गए तो टीआइ ने भगा दिया
बरही थानाक्षेत्र के कोठिया महगवां निवासी शनि चौधरी ने आरोप लगाया विस्टा कंपनी के विपिन बिलौहा, डब्बू शर्मा व राहुल शर्मा 4 मई की रात घर से उठाकर ले गए। लात, घूसे और डंडे से मारा। गनीमत थी कि गांव के संतोष और अशोक पांडेय ग्रामीणों को लेकर आ गए और वे लोग शनि को अधमरा छोड़कर भाग गए।

शनि ने बताया कि उस समय घर पर कोई नहीं था। परिवार के सदस्यों के दूसरे गांव से आने के बाद 7 मई को शिकायत लेकर बरही थाने पहुंचे तो प्रभारी ने रिपोर्ट नहीं लिखी। उल्टे भगा दिया। पीडि़त शनि का अभी भी बरही अस्पताल में इलाज चल रहा है।

इस संबंध मेंं बरही थाना प्रभारी संदीप अयाची ने बताया कि शनि को हमने थाने से नहीं भगाया है। वे पांच दिनों से अवकाश पर होने की बात कह रहे हैं।

खनन में मनमानी से नदी में गहरे गड्ढे, महानदी में डूबने से युवक की मौत
बड़वारा थानाक्षेत्र अंतर्गत महानदी में कटनी शहर से दोस्तों के साथ नहाने गए समदाडिय़ा कॉलोनी निवासी अंकित पंजवानी (26) की मंगलवार को डूबने से मौत हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि महानदी में मनमाने रेत खनन से कई स्थानों पर गहरे गड्ढे हैं। पानी के अंदर गहराई का पता नहीं चलता और लोगों की जान जा रही है।

बड़वारा थाना प्रभारी रोहित डोंगरे ने बताया कि नदी में नहाने के दौरान गहरे पानी मे डूबने से अंकित की मौत हो गई। ग्रामीणों की मदद से अंकित के शव को नदी से निकाल कर पीएम के लिए बड़वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया। मर्ग कायम कर जांच की जा रही है।