भू माफिया का वर्चस्व, किसान की जमीन हड़पी, रातो रात बना लिया मकान

|

Published: 15 Jun 2021, 01:35 PM IST

-तहसीलदार से लेकर सीएम हेल्पलाइन तक की शिकायत
-कहीं से नहीं मिली राहत

कटनी. अपराध का ग्राफ प्रदेश के हर जिले में शबाब पर है। इससे हर वर्ग बेहद परेशान है। अब तो सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज कराने से भी पीड़ित को लाभ नहीं मिल रहा। ऐसे में पीड़ित दर-दर की ठोकरें खाने को विवश है।

अब कटनी का रीठी क्षेत्र भू माफिया के आतंक से त्रस्त है। ताजा मामले में एक भू माफिया ने किसान की जमीन पर जबन कब्जा कर लिया। यही नहीं कब्जा की गई जमीन पर रातों-रात स्ट्रक्चर भी खड़ा करा लिया। इसकी शिकायत पीड़ित किसान ने पहले रीठी तहसीलदार से की। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। वह तो इस बात से भी दंग है कि पूरे मामले को उसने सीएम हेल्पलाइन पर भी डाला लेकिन वहां से भी उसकी फरियाद पर किसी ने गौर नहीं फरमाया।

घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार रीठी के ग्राम पंचायत देवरीकला के मड़ैय्यन टोला गांव पटवारी हल्का नंबर 29 में 793 व 794 नंबर की भूमि रोहित पिता हुकमा पटेल, चंद्रभान पिता हुकमा पटेल, प्रमोद, ताराचंद पिता भगवान पटेल के नाम बतौर निजी भूमि दर्ज है। बताया जा रहा है कि इस आारजी नंबर की निजी भूमि पर गांव के ही दबंग ज्ञानी पिता हरि पटेल ने कब्जा कर लिया और 12 जून को रातों-रात पक्के मकान का स्ट्रक्चर खड़ा करवा लिया।

पीड़ित किसान रोहित व प्रमोद बताते हैं कि उनकी भूमि पर ज्ञानी पटेल के स्तर से किए जा रहे कब्जे की लिखित शिकायत रीठी तहसीलदार से करते हुए निर्माण कार्य पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने की मांग की थी। लेकिन अधिकारियों ने इस पर तनिक भी ध्यान नहीं दिया। नतीजा दबंग ज्ञानी पिता हरि पटेल ने उनकी निजी भूमि पर रातोंरात कब्जा कर पक्का स्ट्रक्चर खड़ा कर लिया।

सीएम हेल्पलाइन से भी नहीं मिली मदद

बताया जाता है कि इस संबंध में पीड़ित किसान प्रमोद पटेल ने अपनी निजी भूमि पर हो रहे कब्जे की शिकायत गत 5 मई को सीएम हेल्पलाइन पर ( शिकायत क्रमांक 14044999) भी की थी। लेकिन उससे भी कोई मदद अब तक नहीं मिली। कोई कार्रवाई नहीं हुई। इधर पीड़ित किसान लगातार अपनी जमीन को कब्जा करने वालों से मुक्त कराने की मांग करते फिर रहे हैं।