कोरोना से ठीक होने के बाद ऑक्सीजन लेवल सामान्य होने में समय लगे तो न हों परेशान

|

Published: 15 May 2021, 10:10 AM IST

पत्रिका एक्सप्लेनर: जिला अस्पताल में एक साल से ज्यादा समय से कोविड-19 मरीजों का इलाज कर रहे डॉ. एसपी सोनी ने बताया कि कोरोना वायरस दूसरे लहर में फेफड़े को पहुंचा रहा ज्यादा नुकसान.

कटनी. कोरोना संक्रमित मरीजों को इस बार स्वस्थ होने के बाद भी कई दिनों तक ऑक्सीजन लेवल सामान्य नहीं हो रहा है। डॉक्टर भी मानते हैं कि इसमें चिंता की बात नहीं है। जिला अस्पताल में एक साल से ज्यादा समय से कोविड-19 मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर एसपी सोनी ने 'पत्रिका' को बताया कि कोरोना संक्रमण के दूसरे लहर में वायरस फेफड़े को ज्यादा नुकसान पहुंचा रहा है। वायरस के कारण निमोनिया से फेफड़े में सिकुडऩ हो जाती है, जिसे ठीक होने में ज्यादा समय लग रहा है। इसका असर ऑक्सीजन लेवल में पड़ रहा है। कुछ मरीजों को ऑक्सीजन लेवल सामान्य होने में एक माह तक का समय लग रहा है। ऐसे में परेशानी की बात नहीं है। धीरे-धीरे ऑक्सीजन लेवल सामान्य हो जाता है।

 

महावीर कोविड केयर सेंटर में कोरोना को हराकर घर जाने के लिए तैयार बच्चे.

7 से 17 आयु वर्ग के 10 बच्चों ने कोरोना को दी मात-

कोरोना संक्रमण को हराने की यह सुखद तस्वीर शुक्रवार को सामने आई। महावीर कोविड केयर सेंटर में 7 से 17 आयु वर्ग के 10 बच्चों को संक्रमण को हराया। स्वस्थ हुए। पूजा, रोशनी, नताशा, विनीता, चांदनी, पिंकी, सोमा, विनीता, विभा और दुर्गा ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद कोविड केयर सेंटर में आए थे। अब स्वस्थ होकर वापस अपने परिवारजनों के बीच जा रहे हैं।

एक दिन 125 स्वस्थ हुए, पूरे कोरोना काल में 7 हजार 601 ने कोरोना को हराया-

जिलेभर में शुक्रवार को 125 मरीज कोरोना संक्रमण से स्वस्थ हुए। इसके साथ ही मई माह में कोरोना को मात देने वाले मरीजों की संख्या 1 हजार 739 और पूरे कोरोना काल में 7 हजार 601 हो गई। शुक्रवार को 810 नमूनों की जांच में 70 नए संक्रमित सामने आने के बाद कोरोना काल में संक्रमितों की संख्या 8 हजार 769 पहुंची। संक्रमण से तीन मौतों के साथ कुल मौतें 77 हो गई। शुक्रवार को एक्टिव मरीजों की संख्या 1 हजार 91 रही।