system में जिम्मेदारों की कार्यशैली पर सवाल खड़े करती video

|

Published: 09 Apr 2021, 11:12 AM IST

प्रसुता को अस्पताल ले जाने परिजन बुलाते रहे एंबुलेंस, समय पर नहीं पहुंची तो ऑटो से लेकर अस्पताल के लिए रवाना हुए, जिला अस्पताल गेट के बाहर ऑटो में ही प्रसव.

कटनी. जिला अस्पताल से गुरूवार दोपहर एक ऐसी तस्वीर सामने आई जो व्यवस्था में जिम्मेंदारों की कार्यशैली पर सीधे सवाल खड़े करती है। रीठी के देवगांव रैपुरा से 25 वर्षीय तुलसा को प्रसव पीड़ा के बाद परिजनों ने 108 एंबुलेंस बुलवाई। सूचना के काफी देर तक एंबुलेंस नहीं पहुंची तो दोबारा फोन लगाया। काफी देर इंतजार करने के बाद भी एंबुलेंस नहीं पहुंची तो परिजन दर्द से तड़प रही प्रसुता को ऑटो से ही लेकर जिला अस्पताल के लिए रवाना हुए और जिला अस्पताल पहुंचने से पहले ही गेट के बाहर प्रसव हुआ। तुलसा ने बेटी को जन्म दिया। मां-बेटी दोनों सुरक्षित हैं।

 

ऑटो से प्रसुता को अस्पताल लाने को लेकर आशा कार्यकर्ता लीला बेन ने बताया कि 108 एंबुलेंस को फोन लगाए थे, लेकिन वे लोग बिजी रहे। और इस कारण प्रसुता को ऑटो से अस्पताल लाना पड़ा। इस बारे में कटनी जिले में 108 एंबुलेंस के प्रभारी अभिषेक मिश्रा बताते हैं कि एंबुलेंस के विलंब से पहुंचने संबंधी जानकारी ली है। ड्राइवर का कहना है कि गांव पहुंचने से पहले ही परिजन प्रसुता को लेकर अस्पताल के लिए रवाना हो गए थे।

इधर, जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. यशवंत वर्मा का कहना है कि जिला अस्पताल गेट के बार प्रसव के बारे में जानकारी नहीं है। पता करवाते हैं।

यह भी जानें
- 108 एंबुलेंस 12 हैं जिलेभर में।
- 14 जननी एक्सप्रेस हैं, जिले में।