डॉक्टर का भूत पहुंचेगा थाने

|

Published: 25 Sep 2021, 01:04 PM IST

पुलिस की अजब कार्रवाई.

कटनी. जी हां...यह बात सुनने में अजीब लग सकती है, लेकिन डॉक्टर का भूत अब थाने पहुंचेगा। पुलिस थाने में एक मृत आत्मा को आरोपी बना दिया गया और एफआइआर भी दर्ज हो गई। मामला कटनी जिले के माधवनगर थाने का है। यहां 22 फरवरी 2021 को दर्ज एक एफआइआर में डॉ. संजय डोडानी आरोपी हैं। यह अलग बात है कि उनकी मौत 17 फरवरी 2021 को हो गई है। यानी एफआइआर दर्ज होने से 7 महीने पहले।

दरअसल यह पूरा मामला पुलिस की जांच में लेटलतीफी और विवेचना हो जाने के बाद भी कई महीने तक प्रकरण के फाइलों में दफन रह जाने का है। आपने किसी घटना के बाद मौके पर पुलिस के विलंब से पहुंचने के कई मामले फिल्मों में तो अक्सर देखी होगी, लेकिन कटनी का मामला फिल्मों से भी कहीं आगे बढ़कर है।

माधवनगर थाने में 15 नवंबर 2019 को 50 वर्षीय युवक ब्रजलाल ठाकुर की मौत के बाद परिजनों ने शिकायत दर्ज करवाई। आरोप लगाया कि गलत इंजेक्शन लगाने के कारण मरीज की मौत हो गई। इंजेक्शन लगाते ही ब्रजलाल की तबियत ठीक होने के बजाये और बिगड़ती चली गई। तबियत ज्यादा बिगडऩे के बाद मरीज को जबलपुर रैफर कर दिया गया और मौत हो गई।

परिजनों की इस शिकायत की जांच एक या दो महीने तक नहीं बल्कि पूरे 22 महीने चली। 22 सितंबर 2021 को आरोपी डॉक्टर संजय डोडानी पर धारा 304 ए का मामला दर्ज किया। माधवनगर थाने में डॉक्टर को आरोपी बनाने के बाद पता चला कि उनकी मौत तो 17 फरवरी 2021 को हो चुकी है। अब मृत आत्मा को आरोपी बनाने के बाद पुलिस भी बैकफुट पर है। पूरे प्रकरण में खात्मा लगाने की तैयारी है।

एसपी सुनील जैन बताते हैं कि माधवनगर थाने में मौत के बाद डॉक्टर को आरोपी बनाने मामले में थाना प्रभारी से जानकारी ली है। इस प्रकरण को अब क्लोज कर दिया गया है।