एक माह का बकाया था बिजली बिल, विद्युत कर्मियों ने कांटा कनेक्शन, उपभोक्ता व भाइयों ने की शहर डीइ से अभद्रता, दर्ज हुआ मामला

|

Updated: 26 Sep 2021, 10:48 PM IST

जमकर हुआ विवाद, विवाद के बाद जुड़ा कनेक्शन, गांधी गंज का मामला, काम बंद कर कोतवाली थाना पहुंचे विद्युत विभाग के अधिकारी-कर्मचारी, दर्ज हुआ मामला

Arbitrariness of officials of Electricity Department

कटनी. अब यदि एक माह की ड्यू डेट में बिल जमा नहीं किया तो बिजली कनेक्शन भी कटने लगे हैं। इसको लेकर विवाद की स्थिति भी बन रही है। ऐसा ही गंभीर मामला शनिवार को नई बस्ती गांधी गंज में सामने आया है। जहां पर उपभोक्ता राजेश कुमार निषाद का 1 माह का बिल 18 हजार 881 रुपये वैल्डिंग दुकान का बिल बकाया था। ड्यू डेट निकले 21 सितंबर को बिल जमा करना था, लेकिन जमा नहीं किया गया। मात्र 4 दिन का समय बीता था, और विद्युत विभाग के अधिकारी-कर्मचारी पहुंचकर के बिजली कनेक्शन काट दिए। इस दौरान शहर डीइ सुभाष नागेश्वर भी मौजूद रहे। इस दौरान राजेश कुमार निषाद दुकान पर नहीं थे, वह मुक्तिधाम में रिश्ते के भाई नारायण निषाद की मौत पर अंतिम संस्कार करा रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि आधे घंटे का समय दीजिए हम तत्काल यहां से आकार के राशि जमा कर देंगे, लेकिन विद्युत कर्मी नहीं माने और कनेक्शन काट दिया।

कनेक्शन काटने से बढ़ा विवाद
बताया जा रहा है कि जैसे ही कर्मचारी ने पोल पर चढ़कर कनेक्शन काटा तो विवाद बढ़ गया। विवाद इतना बढ़ा कि दुकान संचालक ने डीइ को मारने के लिए राड उठा लिया और जमकर तू-तू-मैं-मैं होले लगी। सूचना पर कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंची। एएसआइ दिनेश तिवारी ने समझाया और मामले को शांत कराया। उपभोक्ता को बिल जमा करने कहा। जिसके बाद विद्युत कर्मियों ने राजेश कुमार निषाद का कनेक्शन चालू किया।

कर्मचारी हुए लामबंद
अभद्रता से क्षुब्ध होकर विद्युत विभाग के अधिकारी-कर्मचारी लामबंद हो गए और एक सैकड़ा से अधिक अधिकारी-कर्मचारी कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज कराने पहुंच गए। कई घंटे चले ड्रामा के बाद कोतवाली पुलिस ने उपभोक्ता सहित भाई व अन्य के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज किया वहीं। जेई ने बताया कि उपभोक्ता का घर अधारकाप में है, वह कनेक्शन दौलतराम कोल के नाम से है, जिसका बिल 1 लाख 52 हजार रुपये है, जिसे नहीं जमा किया जा रहा था, इसलिए कनेक्शन दुकान का कनेक्शन काटा गया था। बताया जा रहा है कि अल्फर्टगंज में भी कर्मचारियों से अभद्रता की गई है। वहीं विद्युत विभाग की मनमानी से भी उपभोक्ताओं में खासा आक्रोश है।

इनका कहना है
विद्युत विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों की शिकायत पर अभद्रता करने वाले उपभोक्ता राजेश निषाद व उनके भाइयों सहित अन्य पर शासकीय कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।
अजय सिंह, टीआइ कोतवाली।

दुकान का बिल 17 हजार रूपए बकाया था। जिसकी अंतिम तारीख 21 सितंबर थी। केवल तीन दिन का विलंब हुआ था। शनिवार को बिल जमा करने के लिए कहा गया, इसके बाद भी दुकान की बिजली काट दी। शहर में 28 करोड़ वसूलने की बजाए छोटे उपभोक्ताओं को परेशान किया जा रहा है।

-राजेश निषाद, पीडि़त उपभोक्ता

इनका कहना है

उपभोक्ताओं को जो बिजली सप्लाई की जाती है, विभाग उसे खरीदती है। उपभोक्ता यदि समय पर बिजली का बिल जमा नहीं करते हैं तो अन्य कार्य रूक जाते हैं। शहर संभाग में करीब 28 करोड़ बकाया है। बकाया वसूलने पर उपभोक्ता विवाद करते हैं। समय पर बिजली का बिल जमा हो जाए तो इस तरह की स्थितियां निर्मित नहीं होंगी।

सुभाष नागेश्वर, डीई शहर संभाग