1995 से मुलायम परिवार के हाथों में रही सैफई ब्लॉक प्रमुख की कमान, परिवार की बहू व लालू यादव की समधन दूसरी दफा मैदान में उतरीं

|

Published: 09 Apr 2021, 01:35 PM IST

2015 में मृदुला यादव बीडीसी चुनने के बाद सैफई ब्लॉक प्रमुख बनी थीं। इस बार भी ब्लाक प्रमुख बनने के लिए वह चुनाव लड़ रही हैं।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
इटावा. जिला इटावा के सैफई ब्लॉक प्रमुख (Saifai Block Pramukh) की कमान 1995 से सपा (Samajwadi Party) के मुलायम परिवार (MUlayam singh Yadav) के हाथों में रही है। इस पंचायत चुनाव (Panchayat Chunav) में बीडीसी (BDC) पद से मुलायम परिवार की बहू एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव (Lalu Yadav Bihar EX CM) की समधन मृदुला यादव ने नामांकन दाखिल किया है। हालांकि सैफई राजघराने की जब बात आती है तो मुलायम सिंह परिवार का नाम चर्चा में आता है। राजनैतिक क्षेत्र में भी उनके परिवार के करीब सभी सदस्य सक्रिय रहते हैं। 2015 में मृदुला यादव बीडीसी चुनने के बाद सैफई ब्लॉक प्रमुख (Block Pramukh) बनी थीं। इस बार भी ब्लाक प्रमुख बनने के लिए वह चुनाव लड़ रही हैं।

यह भी पढें: नाती के साथ मुख्यालय पहुंचकर 81 वर्षीय वृद्धा ने कराया नामंकन, चुनाव मे उतरने की बताई ऐसी वजह

नामांकन के दौरान उनके साथ उनके पुत्र पूर्व सांसद तेज प्रताप सिंह यादव और बहू राजलक्ष्मी भी साथ रहीं। नामांकन स्थल पर पहुंचकर उन्होंने रिटर्निग ऑफीसर को अपना नामांकन प्रस्तुत किया। आपको बता दें कि राजलक्ष्मी पूर्व सीएम लालू की पुत्री हैं। मृदुला यादव दूसरी बार यह चुनाव लड़ने जा रहीं हैं। प्रथम बार मृदुला वर्ष 2015 के चुनाव में सैफई से बीडीसी सदस्य निर्वाचित हुई थीं। इसके बाद वे सैफई की ब्लॉक प्रमुख बनीं।

यह दौर 1995 से चला आ रहा है, जब सैफई ब्लॉक से मुलायम सिंह यादव के परिवार का सदस्य ही ब्लॉक प्रमुख बनता रहा है। सबसे पहले मुलायम सिंह के भतीजे स्व. रणवीर सिंह यादव ब्लॉक प्रमुख बने। उनके स्वर्गवास के बाद पूर्व सांसद धर्मेद्र यादव, पूर्व सांसद तेज प्रताप सिंह यादव ने ब्लॉक प्रमुख की बागडोर संभाली। तेज प्रताप के मैनपुरी से सांसद निर्वाचित होने के बाद इस ब्लॉक की कमान उनकी मां मृदुला यादव ने संभाली। मृदुला ने सैफई क्षेत्र पंचायत के वार्ड संख्या 20 से अपना नामांकन दाखिल कर आगाज कर दिया है।