एमबीबीएस अंतिम वर्ष के छात्र ने छात्रावास में फंदा लगाकर दी जान

|

Published: 27 Feb 2021, 11:37 PM IST

- सुबह ही गांव से लौटा था छात्रावास
- खाना खाने के लिए बाहर न आने पर दरवाजा तोड़ सहपाठी कमरे में घुसे तो फंदे पर लटका मिला छात्र

जोधपुर.
मथुरादास माथुर अस्पताल परिसर में यूजी छात्रावास-2 के एक कमरे में शनिवार को एमबीबीएस अंतिम वर्ष के एक छात्र ने पंखे पर रस्सी का फंदा बनाकर जान दे दी। कमरे में मिले सुसाइड नोट में उसने शारीरिक बीमारी व मानसिक परेशानी से आत्महत्या करने का उल्लेख किया गया है।

थानाधिकारी पंकजराज माथुर ने बताया कि जालोर जिले में रामसीन निवासी गीनाराम (25) पुत्र केवाजी देवासी यहां डॉ एसएन मेडिकल कॉलेज में वर्ष 2016 बैच के एमबीबीएस अंतिम वर्ष का छात्र था। वह एमडीएम अस्पताल परिसर में यूजी छात्रावास-2 में रहता था। रात को खाना खाने के लिए सहपाठी छात्रों ने उसे आवाज लगाई, लेकिन बंद कमरे से कोई जवाब नहीं मिला। फोन करने व दरवाजा खटखटाने के बावजूद कोई हलचल नहीं हुई। इतने में पीएमटी की तैयारी कर रहा गीनाराम का चचेरे भाई भी वहां आ गया। सभी ने धक्का देकर दरवाजा खोला तो कमरे में गीनाराम पंखे पर रस्सी के फंदे से लटका मिला। उसकी मृत्यु हो चुकी थी। छात्रों ने वार्डन व सीनियर चिकित्सकों को सूचना दी।

थानाधिकारी भी मौके पर आए। फंदा काटकर छात्र को नीचे उतारा गया, लेकिन तब तक उसकीमृत्यु हो चुकी थी। पुलिस ने परिजन को सूचना दी। एफएसएल भी मौके पर आई और साक्ष्य जुटाए। प्रारम्भिक जांच के बाद शव मोर्चरी में रखवा दिया गया। कमरा सील किया गया है। पुलिस का कहना है कि मृतक गांव गया हुआ था और शनिवार को ही छात्रावास लौटा था।