पुलिस मुठभेड़ में मारा गया हिस्ट्रीशीटर

|

Published: 14 Oct 2021, 01:54 AM IST

- पुलिस ने पकडऩे का प्रयास किया तो बदमाशों ने भगाई कार, पुलिस पर गोलियां चलाईं, एक बाइक को टक्कर मारी
- पुलिस की जवाबी फायरिंग में सीने व पसलियों में गोली लगने से टूटा वांछित का दम

जोधपुर.
शहर में बुधवार शाम पुलिस व बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में एक हिस्ट्रीशीटर को मारा गया। पुलिस को देख फिल्मी अंदाज में कार भगाने वाले बदमाशों ने पीछा कर रही पुलिस पर गोलियां चलाई। पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। इसमें हत्या प्रयास के मामलों में वांछित हिस्ट्रीशीटर लवली कंडारा जान से हाथ धो बैठा। पुलिस ने उसके तीन सहयोगियों को दबोच लिया। जोधपुर में पुलिस मुठभेड़ के दौरान किसी की जान जाने की यह सम्भवत: पहली घटना है। मृतक हिस्ट्रीशीटर का शव मथुरादास माथुर अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है। इस बीच, घटना के बाद अस्पताल परिसर में जमा हुए मृतक के परिजनों व वाल्मिकी समाज के लोगों ने कथित एनकाउंटर की निष्पक्ष जांच की मांग की है। अस्पताल परिसर में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।
पुलिस कमिश्रर जोश मोहन के अनुसार पुलिस ने तेज रफ्तार कार में भाग रहे बदमाशों का पीछा किया। इस दौरान बदमाशों ने दो बार गोलियां चलाई। इस पर पुलिस को जवाबी फायरिंग करनी पड़ी। इसमें वांछित हिस्ट्रीशीटर मारा गया है। पुलिस ने रातानाडा थाने में कार सवार बदमाशों के खिलाफ जानलेवा हमला और राजकार्य में बाधा डालने का मुकदमा दर्ज किया है।
पुलिस उपायुक्त (पूर्व) भुवन भूषण यादव ने बताया कि जानलेवा हमले के दो मामलों में वांछित हिस्ट्रीशीटर तिलक नगर हरिजन बस्ती निवासी लवली कण्डारा (३० वर्ष) पुत्र सुभाषचंद्र के रातानाडा सब्जी मंडी क्षेत्र में होने की सूचना पर शाम करीब पौने छह बजे रातानाडा थानाधिकारी तीन सिपाहियों के साथ अपनी निजी कार से पहुंचे। पुलिस को देख कार में बैठे लवली व तीन अन्य युवक कार को भगाने लगे। पुलिस ने पीछा किया तो एयरफोर्स ग्रीन गेट के पास बदमाशों ने गोली दागी, जो कार के अगले हिस्से में लगी। वहां से बदमाश सुभाष चौक, जोधपुर सेन्ट्रल जेल की तरफ भागे और फिर कार पुलिस लाइन से बनाड़ की तरफ दौड़ा दी। बदमाशों की कार ने एक बाइक को भी टक्कर मारी। फिर डिगाड़ी फांटे के पास बदमाशों ने दूसरी गोली चलाई, जो थानाधिकारी की कार के बगल वाले दरवाजे पर लगी। तब थानाधिकारी ने जवाब में छह फायर किए। एक गोली कार पर लगी और अन्य चालक के पास सीट पर बैठे लवली के सीने के पास और हाथ में लगी। इसी दौरान सामने से आई बनाड़ थाने की चेतक को देखकर तीन बदमाश कार रोककर भागने लगे। पुलिस ने पीछा कर तीनों को दबोच लिया। घायल लवली को अस्पताल भेजा गया। रास्ते में उसने दम तोड़ दिया।
घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस कमिश्रर जोश मोहन व अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे। एफएसएल की टीम ने भी मौके से साक्ष्य उठाए।
मिले गोलियों के खाली खोल
पुलिस को मौके से गोलियों के छह-सात खाली खोल मिले। इन्हें जांच के लिए कब्जे में लिया गया है। एक गोली रातानाडा थानाधिकारी की निजी कार में धंसी मिली।