Latest News in Hindi

JNVU Election : छात्र संघ चुनाव हारे एबीवीपी प्रत्याशी मूलसिंह परिणाम को कोर्ट में देंगे चुनौती

By KR Mundiyar

Sep, 12 2018 10:04:32 (IST)

- वकीलों से विचार विमर्श के बाद आज विवि की ग्रीवेंस रिड्रेसल सैल को देंगे आपत्ति

- 589 खारिज वोटों पर है आपत्ति

जोधपुर.

जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर के छात्रसंघ अध्यक्ष चुनाव में 9 वोट से हारने वाले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रत्याशी मूल सिंह राठौड़ ने चुनाव परिणाम को कोर्ट में चुनौती देने की बात कही है। राठौड़ ने कहा कि वह गुरुवार को विवि के छात्रसंघ चुनाव की ग्रीवेंस रिड्रेसल सैल को परिणाम पर आपत्ति देंगे। वहां कुछ नहीं होने के बाद कोर्ट में याचिका दायर करेंगे।

मूल सिंह को मतगणना के दौरान कुल मतों में से खारिज किए गए 589 मतों पर आपत्ति है। उनका यह कहना है कि इसमें से अधिकांश वोट उसके हैं और केवल मामूली गलती को आधार बताकर वोट खारिज कर दिए गए। विवि ने सभी मतों को मतपेटियों में सुरक्षित रखा है।

विवि में छात्रसंघ चुनाव के लिए 10 सितम्बर को मतदान हुआ। इसमें एपेक्स अध्यक्ष के लिए 21 हजार 499 मतदाताओं में से से 9936 ने वोट दिया। अध्यक्ष पद पर चार प्रत्याशी एबीवीपी के मूल सिंह, एनएसयूआई के सुनील चौधरी, एसएफआई के दमाराम व एआईएसएफ के अरविंद सिंह राजपुरोहित मैदान में थे। रात नौ बजे अध्यक्ष पद के लिए खत्म हुई मतगणना में सुनील चौधरी ने मूल सिंह को 39 वोट से हराया। मूल सिंह के एतराज पर हुई पुनर्मतगणना के बाद सुनील के 26 वोट खारिज हुए और दो वोट मूल सिंह के खाते में जुड़े फिर भी सुनील 9 मत से विजयी रहा।

6 प्रतिशत वोट खारिज
मूल सिंह राठौड़ को 4161, सुनील चौधरी को 4170, दमाराम को 662 और अरविंद को 224 वोट मिले। इसमें 130 मत नोटा के और 589 वोट खारिज मत पड़े। करीब 6 प्रतिशत मत बैलेट पेपर पर सील आधी अधूरी होने, लाइन के बाहर सील होने, दो लाइनों के बीच सील होने के कारण खारिज कर दिए गए। इसमें से अधिकांश वोट मूल सिंह के थे। मूलसिंह ने बताया कि उसके सौ से अधिक वोट पर सील के साथ अंगूठे का निशान था जो जानबूझकर किसी ने लगाया। मूल सिंह ने कहा कि सुनील के 81 वोटों पर भी आपत्ति थी लेकिन केवल 26 ही खारिज किए गए।

मूलसिंह चिल्लाते रहे, सुनील को दिला दी शपथ

पुनर्मतगणना के दौरान विवि के कुछ कांग्रेसी विचारधारा के शिक्षक भी मतगणना केंद्र के अंदर तक मौजूद थे। मूलसिंह की आपत्ति पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने उनको बाहर का रास्ता दिखाया। पुनर्मतगणना के बावजूद सुनील को 9 मत अधिक मिले तो मूल सिंह ने स्वयं के मतों की वापसी गिनती करने को कहा लेकिन मूलसिंह को बाहर रखकर विवि ने सुनील को शपथ दिलाना जरुरी समझा। रात 2 बजे मतगणना केंद्र पर मूलसिंह चिल्लाते रहे ।

24 घण्टे में आपत्ति दर्ज करा सकते हैं
अगर किसी प्रत्याशी को चुनावी संबंधी आपत्ति है तो वह 24 घण्टे के भीतर विवि की ग्रीवेंस रिड्रेसल सैल के समक्ष आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। यहां भी संतुष्ट नहीं हो तो वह कुलपति के समक्ष अपील कर सकते हैं।

प्रो. अवधेश शर्मा, मुख्य निर्वाचन अधिकारी, जेएनवीयू