पुलिस की गश्त बढ़े, कोचिंगो के बाहर खड़े युवाओं के ग्रुप पर लगे पाबंदी

|

Published: 27 Mar 2021, 09:50 PM IST

- पुलिस के साथ महिलाओं ने किया संवाद

झालावाड़.पुलिस व जनता के बीच दूरी कम करने, आपसी विश्वास बढ़ाने के लिए राजस्थान पत्रिका ने पुलिसऔर पब्लिक के बीच सीधा संवाद कायम करने की पहल की है। इसकी कड़ी में झालावाड़ शहर में शनिवार को कोतवाली पुलिस के साथ वर्चुअल संवाद हुआ। संवाद में महिलाओं ने सहायक पुलिस अधीक्षक अमित कुमार के सामने अपने सवाल व सुझाव रखे। वक्ताओं का कहना है कि शहर में पुलिस गश्त बढ़े, रात के समय युवा ग्रुप में बैठे रहते हैं, ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई हो। संवाद में कोतवाली क्षेत्र की बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल हुई, और सकारात्मक कानून व्यवस्था के लिए कई सुझाव दिए। जिनका सहायक पुलिस अधीक्षक अमित कुमार ने एक-एक कर जवाब दिया और बेहतर पुलिसिंग देने का वादा किया।


इन्होने दिए सुझाव व बताई समस्याएं
1.आज कल ऑनलाइन फ्रॉड बहुत ज्यादा हो रही है। फ्रॉड ट्रांजेक्शन ज्यादा हो रहे हैं, महिला अपराध बहुत ज्यादा बढ़ रहे हैं। महिला पुलिस कर्मियों की भर्ती ज्यादा से ज्यादा संख्या में कर चौहरों पर खड़े करें ताकि महिलाओं में पुलिस का भय का भग नहीं रहे।
जया गुप्ता,झालावाड़
2.मोटर गेराज क्षेत्र में घरों के पास ही शराब की दो दुकानें लगी हुई है,इससे महिलाओं व बालिकाओं को खासी परेशानी होती है,पुलिस इनको हटवाने का प्रयास करें तो अच्छा रहे।
प्रियंका शर्मा, झालावाड़।
3.रोड पर काफी ट्रॉफिक रहता है, लोग दुकानों के सामान आगे तक जमा देते हैं, इससे पैदल जाने वालों को बहुत परेशानी आती है।विशेषरूप से मंगलपुरा में।
प्रेमलता खंडेलवाल,झालावाड़
4.सर्विस लेन पर बाइक व कारें खड़ी रहने से बहुत परेशानी आती है, इसके लिए ट्रॉफिक पुलिस की ड्यूटी लगाई जाएं। काम वाल बाईजी के पति शराब पीकर आते हैं, इससे उन्हे बहुत तनाव होता है शिकायत करने पर पुलिस थाने में बिठा लेती है। इस पर ध्यान देने की जरूरत है। पुलिस स्वच्छता में भी सख्ती करवाकर सहयोग करवाएं।
ममता गुप्ता, झालावाड़
5.धोंकड़े के बालाजी के यहां मोहल्ले में आवरा लड़के बैठे रहते हैं। पीलानी में महिला अपराध के मामले में 26 में ही अपराधी को सजा मिल चुकी है, यहां भी सुकेत के मामले में पुलिस ऐसी ही कार्रवाई करें। ताकि अपराधियों में कानून का खौप हो।
राजदुलारी अग्रवाल,झालावाड़
6. पुलिस एक नंबर जारी करें ताकि कोई भी महिला छोटी-छोटी परेशानी भी उस पर बता सकें। पेट्रोल पंप आदि जगह लगाए जाएं।
आकांक्षा पाटनी, झालावाड़

7.शहर में 11बजे बाद पुलिस की गश्त होनी चाहिए, ताकि रात के समय स्मैकचियों व चोरों द्वारा की जा रही वारदातों पर लगाम लग सकें।
दिव्या कश्यप, झालावाड़

8.शहर में चौराहों पर पुलिस के साथ महिला पुलिस कर्मी भी निगरानी के लिए खड़ी होनी चाहिए ताकि बालिकाएं व महिलाएं अपनी परेशानी बता सकें। शहर में कोचिंग संस्थान चल रहे है उनके सामने लड़के खड़े रहते हैं।
नम्रता गौड़, झालावाड़
9.चौराहों पर पुलिस दो-दिन घंटे ही खड़ी रहती है, बाकी समय नहीं रहती है, इससे लोग हेलमेट नहीं लगाते हैं। हेलमेट हर व्यक्ति के लिए अनिवार्य होना चाहिए। अस्पताल में जब हम एक्सीडेंट के केस देखते हैं तो बहुत दुख होता है।
जलज तिवारी, झालावाड़


10.कोरोना चल रहा है, मास्क लगवाने व सोशल डिस्टेंस बनाए रखने में पुलिस को सख्ती करनी चाहिए। ताकि गाइड लाइन की अवहेलना नहीं हो।
तपस्या उपाध्याय
11.ट्रॉफिक रूल्स का उचित तरीके से पालन हो। हर व्यस्त रोड पर पुलिसकर्मी की तैनाती हो। ताकि महिलाओं को वाहन चलाने में कोई परेशानी नहीं हो।
रश्मि टोंग्या,झालावाड़।
12.कोचिंग संस्थानों के आसपास पुलिस को चोकसी रखनी चाहिए। ताकि बालिकाएं भय मुक्त होकर कोचिंग जा सके। कोचिंग संस्थानों के मालिक भी सीसीटीवी कैमरे लगाए व गार्ड की व्यवस्था करें।शराब की दुकानों को आबादी क्षेत्र से दूर लगाने का प्रयास करें।
हिमाशी तिवारी,झालावाड़।

ऐसे करेंगे समाधान-
सहायक पुलिस अधीक्षक अमित कुमार बुढानियां ने महिलाओं द्वारा संवाद में किए सवालों के ऐसे दिए जवाब....
-महिलाओं की चौराहों पर उपस्थिति होनी चाहिए, इस पर गौर किया जाएगा, आने वाले समय में महिला पुलिस कर्मी चौराहों पर नजर आएगी।
- ऑनलाइन व ओटीपी फ्रॉड के मामले में सतर्क रहेंकिसी को ओटीपी नहीं बताए, कोई घटना होती है तो तुरंत पुलिस को सूचना दें
- मदिरा की दुकानों से असुविधा हो रही है धार्मिक स्थल व स्कूलों के पास है तो शिकायत दें, आबकारी के बात कर समाधान काप्रयास करेंगे।

- महिलाओं की शिकायत के लिए व्हाट्सअप नंबर दिया जा रहा है, कोई भी उस पर शिकायत कर सकती है उसका नाम गोपनीय रखा जाएगा।
-ट्रॉफिक की समस्या एक सप्ताह में दूर कर दी जाएगी।इसके लिए बैठक बुलाई गई है।
- बाईजी वाले मामले में कोई बड़ी परेशानी है तो एफआई आर दर्ज करवाएं कार्रवाई होगी।
- मेडिकल कॉलेज के सामने दुकानों पर मरीज आते हैं इसलिए देर रात तक खुली रहती है, जन सुविधा के हिसाब से उन्हे बंद नहीं करवा सकते है, फिर भी कोई परेशानी है तो शिकायत करें उसका समाधान किया जाएगा।
-हेलमेट की अनिवार्यता के लिए चालानकाटे जा रहे है, ताकि सड़क हादसों में कमी आए।

पत्रिका की अच्छी पहल-
राजस्थान पत्रिका द्वारा युवाओं व महिलाओं को एक प्लेटफार्म देकर आमजन व पुलिस की दूरी को कम करने का काम किया है,जो सराहनीय कार्य है। अच्छी पहल है इससे पुलिस सीधे लोगों की समस्याओं से जुड़ सकेगी। कोई भी महिला मेरे मोबाइल नंबर 8764517401 पर शिकायत कर सकती है, उनका नाम गोपनीय रखकर कार्रवाई की जाएगी।
अमित कुमार, सहायक पुलिस अधीक्षक,झालावाड़।