राणापुर भागोरिया मेला: कोरोना काल में पहुंचे 2 लाख लोग, कई वर्षो का रिकॉर्ड टूटा

|

Updated: 27 Mar 2021, 05:22 PM IST

लोक संस्कृति के उत्सव भगोरिया में शनिवार को झाबुआ जिले के ग्राम राणापुर में एक अलग ही नजरा देखने को मिला जिसने कई वर्षो का रिकॉर्ड ही तोड़ दिया।

Ranapur Bhagoria Fair: 2 lakh people arrived in Corona period, record

झाबुआ. लोक संस्कृति के उत्सव भगोरिया में शनिवार को झाबुआ जिले के ग्राम राणापुर में एक अलग ही नजरा देखने को मिला जिसने कई वर्षो का रिकॉर्ड ही तोड़ दिया। राणापुर में शनिवार को कोरोना काल के दौरान भारी भीड़ देखने को मिली। बताया गया कि शनिवार को करीब 1.50 से 2 लाख लोगों के आना बताया जा रहा है। जबकि प्रशासन की ओर से कोरोना गाइड लाइन जारी की गई है जिसमें एक साथ अधिक संख्या में लोगों का समूह पर प्रतिबंधित है। ऐसे में राणापुर भागेरिया मेले में एक नया रिकॉर्ड बना लिया है। मेले में ढोल-मांदल की थाप पर आदिवासियों की टोलियां ने जमकर धमाल मचाई रही है। राणापुर और मेघनगर के भगोरिया मेले में मस्ती परवान चढ़ी। युवक-युवतियों की टोलियों ने मेले में जमकर धमाल मचाई। ढोल-मांदल की थाप के साथ झूले-चकरी की चर्र चूं की आवाज ऐसे आ रही थी मानों दोनों के बीस संगत चल रही हों। मेला स्थल पर पैर रखने तक की जगह नहीं थीं। यहां झूले में बैठने के साथ आइस गोले खाने के लिए भी भीड़ उमड़ी। राणापुर में फागुन की बसंती बयार में त्योहारी उल्लास हर चेहरे को खिला रहा था। भारी-भरकम मांदल पर हौले-हौले पड़ती थाप, साथ में थाली की खनकदार संगत कदमों को थिरकने पर मजबूर कर रही थी। चांदी के गहनों की चमक अल्हड़ आदिम बाला के सौंदर्य की आभा को द्विगुणित कर रही थी।

ड्रेसकोड में नजर आई युवतियां
इस बार भगोरिया में ड्रेस कोड में सजी युवतियां ज्यादा नजर आई। एक जैसी ड्रेस पहने 8-10 के ग्रुप में युवतियां आकर्षण का केंद्र थी। मांदल पर युवक-युवतियां जमकर थिरके। टोलियां का समूह सभी को लुभा रहा था।