महामांगलिक के श्रवण से उत्तम जीवन की मिलती है प्रेरणा

|

Published: 17 Mar 2021, 02:17 AM IST

मनोभाव व आत्म शुद्धिकरण के साथ हजारों समाजजनों और गुरु भक्तों ने किया महामांगलिक का श्रवण

jhabua,jhabua district,Book release,jhabua mp,Book release function,Inspiration life,Religious meeting,Jain Guru,Acharya Vishwaratna sagar,

झाबुआ. शहर से सटे कृषि उपज मंडी के सामने जैन तीर्थ श्री गौड़ी पाŸवनाथ मंदिर पर तप सम्राट आचार्य नवरत्नसागर सूरीश्वरजी मसा के शिष्य आचार्य विश्वरत्नसागर ने देश के विभिन्न राज्यों एवं शहरों से उपस्थित समाजजनों और गुरु भक्तों को महामांगलिक का श्रवण कराया। इस अवसर पर आचार्य ने कहा कि यह महामांगलिक आपके रोग-शोक-कष्ट-पीड़ा आदि को दूर करने के साथ एक उत्तम जीवन जीने की ओर प्रेरित करेगा। इस दौरान विशेष रूप से चंदनप्रभा श्रीजी ने भी उपस्थित होकर आचार्य विश्वरत्नसागर से अपने आगे के विहार के दौरान निश्चित रूप से जोधपुर (राजस्थान) के पाŸव पद्मावती तीर्थ पर भी पधारने की भावभरी विनती की, जिसे आचार्य ने सहर्ष स्वीकार किया। महामांगलिक से पूर्व जिले के वरिष्ठ समाजसेवी एवं वरिष्ठ साहित्यकार यशवंत भंडारी ‘यश’ के पंचम काव्य संग्रह ‘शुभ परिणति के सूत्र’ का भी विमोचन पद्मश्री महेश शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक ने किया महामांगलिक में शिरकत करने विशेष तौर पर मुंबई से रमणभाई मुथा, मोंटेक्स पेन कंपनी के चेयरमैन भी पहुंचे। जिन्होंने आचार्य से आशीर्वाद प्राप्त किया।

पुस्तक का विमोचन
मालवा जैन महासंघ के राष्ट्रीय प्रवक्ता यशवंत भंडारी ‘यश’ के पंचम काव्य संग्रह, जो सकल जैन समाज को समर्पित होकर उसमें जैन शब्दावलियों के साथ जैन आगमों की व्याख्या और विश्लेषण किया गया है। आचार्य द्वारा पुस्तक की वाक्षेप पूजन एवं आशीर्वाद प्रदान करने के बाद पद्मश्री महेश शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष लक्ष्मणसिंह नायक, भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य दौलत भावसार, त्रि-स्तुतिक संघ मप्र के उपाध्यक्ष मनोहर भंडारी, श्वेतांबर जैन संघ झाबुआ के व्यवस्थापक संजय मेहता, उपाध्यक्ष सुभाष कोठारी, महामंागलिक आयोजन समिति के अध्यक्ष संदीप जैन ‘राजरतन’, श्री गौड़ी पाŸवनाथ मंदिर के अध्यक्ष अनिल राठौर, सिरोही संघ अध्यक्ष मनोहर मोदी, समाज के वरिष्ठजनों में डॉ. प्रदीप संघवी, मनोज बाबेल, उत्तम जैन, मनोज मेहता, रोटरी मंडल के रिजनल चेयरमैन उमंग सक्सेना, सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर, रोटरी क्लब ‘मेन’ अध्यक्ष मनोज अरोरा, अनिल रूनवाल आदि ने मिलकर किया। महामांगलिक का श्रवण करने आयोजन स्थल पर मप्र के झाबुआ जिले सहित राजगढ़, धार, इंदौर, आलीराजपुर के साथ समीपस्थ गुजरात के दाहौद, गोधरा, पालीताणा के अतिरिक्त राजस्थान, उत्तरप्रदेष, महाराष्ट्र से भी अनेक अन्य गुरु भक्त पहुंचे थे। इस बीच ही ‘मोंटेक्स कंपनी’ के सीईओ रमणभाई मुथा ने आचार्य से राजगढ़ भोपावर तीर्थ के बाद सुवासरा भी पधारने की विनती की।

चंदन प्रभा श्रीजी ने आचार्य के दर्शन-वंदन किए
प द्म विभूषित 1008 आचार्य चंदनप्रभा के पहुंचने पर पहले मंदिर में श्रीगौड़ी पाŸवनाथ भगवान एवं दादा गुरुदेव राजेंद्र सूरीश्वरजी के दर्शन किए। इसके बाद आयोजन स्थल पर आकर आचार्य श्रीजी के दर्शन कर उनके सम्मान में कहा कि आज मालवा की इस धरती पर आचार्य नवरत्न सागरजी के सुशिष्य आचार्य विश्वरत्नजी के चरण पड़े हैं। निश्चित ही मालवा और विशेषकर झाबुआ की यह धरती पवित्र होकर उनका यशोगान करती है।