झाबुआ में कोरोना विस्फोट : कलेक्टर, ASP, डिस्ट्रिक्ट जज समेत 22 की रिपोर्ट पॉजिटिव

|

Updated: 07 Apr 2021, 03:29 PM IST

झाबुआ कलेक्टर रोहित सिंह, डिस्ट्रिक्ट जज राजेश गुप्ता, एडिशनल एसपी सहित 22 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

झाबुआ। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में एक बार फिर कोरोना वायरस (coronavirus) भयावय रूप लेता जा रहा है। प्रदेश के कई जिलों के आंकड़े चौंकाने वाले हैं। इसी बीच झाबुआ जिला कलेक्टर रोहित सिंह, डिस्ट्रिक्ट जज राजेश गुप्ता, एडिशनल एसपी सहित 22 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। प्रशासन अलर्ट मोड पर आ गया है, वहीं, संक्रमित पाए गए इन अधिकारियों के संपर्क में आने वालों की लिस्ट तैयार की जा रही है, ताकि जितना जल्दी हो सके कोरोना की चेन को तोड़ा जा सके।

 

पढ़ें ये खास खबर- कोरोना के चलते बड़ा फैसला : महाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ से मध्य प्रदेश की परिवहन सेवाओं पर बैन


कलेक्टर, ASP समेत 22 पॉजिटिव

प्रदेश का रोजाना आने वाला हेल्थ बुलेटिन हर दिन चौंका रहा है। लगातार बढ़ रही मरीजों की संख्या और मौतों का आंकड़ा सरकार और प्रशासन के लिये चिंता का विषय बना हुआ है। इसी के चलते जिला स्तर पर संक्रमण की गति कम करने के लिये प्रशासन द्वारा कई कड़े फैसले तक लिये जा रहे हैं। वहीं झाबुआ कलेक्टर, डिस्ट्रिक्ट जज और एडिशनल एसपी की सीएमएचओ जयपाल सिंह ठाकुर ने पुष्टि कर दी है। इसके अलावा, जिले में 22 अन्य लोग भी संक्रमित पाए गए हैं। बता दें कि, इससे एक दिन पहले जिले में 46 मरीजों के मिलने की पुष्टि हुई थी।

 

पढ़ें ये खास खबर- उपचुनाव में चप्पलों की माला पहनकर वोट मांग रहे बीजेपी प्रत्याशी के भाई, जानिए क्यों

जिले के मौजूदा हालात

आपको बता दें कि, झाबुआ में फिलहाल 205 कुल एक्टिव केस हैं। जिला कमेटी लगातार संक्रमण पर नियंत्रण पाने की तैयारियों में जुटी हुई है, बावजूद इसके जिले में संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ रही है।

 

प्रदेश के मौजूदा हालात

 

 

अगर बात करें, प्रदेश स्तर की, तो पिछले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश में 3722 नए मामले सामने आए थे। इसके अलावा, 18 लोगों की मौत भी हुई है। फिलहाल, प्रदेश में कुल 24155 एक्टिव केस हैं। सूबे के मुखिया शिवराज सिंह चौहान खुद लगातार कोरोना को लेकर समीक्षा बैठकें कर रहे हैं। जहां आज सीएम ने प्रदेश के सभी धर्मगुरुओं के साथ विशेष बैठक ली, जिसमें उन्होंने संकेत दिये हैं कि, जहां जहां संक्रमण अनियंत्रित होगा, वहां लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

 

महाराष्ट्र के बाद अब छत्तीसगढ़ से सूबे की परिवहन सेवाएं बंद - video