तीन ट्रैक्टर का किस्त ना पटा पाने को लेकर मदनपुर के किसान ने की खुदकुशी

|

Updated: 02 Mar 2020, 06:37 PM IST

आंगनबाड़ी केंद्र में कार्यकर्ता ने लगाई फांसी

जांजगीर-चांपा. जिले के अलग-अलग मामलों में सोमवार को कर्ज से लदे किसान व आंगनबाड़ी की कार्यकर्ता ने खुदकुशी कर ली। दोनों मामले की जांच में पुलिस जुट गई है। पहला मामला पामगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम मदनपुर की है। यहां का किसान रमेश कुमार कश्यप पिता हरप्रसाद (45) लोन में तीन ट्रैक्टर लिया था और लोन की किस्त नहीं पटा पा रहा था। वह मानसिक रूप से कर्ज से दबा था। इस बात की जानकारी अपने घर के बाल बच्चों के साथ साझा नहीं कर रहा था। सोमवार की सुबह वह अपनी ट्रैक्टर लेकर खदान की ओर गया और अपने साथ में सोहागा भी रखा था। साथ में उसका लडक़ा भी था। वह गुड़ाखू घिसने के बहाने खदान के पानी की ओर गया और सोहागा को पी लिया। कुछ देर बाद वह वहीं पर गिर गया। काफी देर तक उसके मौके पर नहीं पहुंचने से उसका बेटा वहां गया और देखा कि उसके पिता ने सोहागा को पी लिया है। इसकी सूचना उसने आसपास के लोगों को दी। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

दूसरी घटना पामगढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम धनगांव की है। जहां एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता फुलवंतिन बाई पिता छतराम रत्नाकर (30) सोमवार को अपने केंद्र में गई और फांसी लगा ली। घटना की सूचना आसपास के लोगों को हुई। उन्होंने घटना की जानकारी पुलिस को बताई। पुलिस मौके पर पहुंचकर मर्ग कायम किया है। कार्यकर्ता क्यों खुदकुशी की यह परिजन भी नहीं बता पा रहे हैं।